आईपीएल टीमों के मालिकों के साथ बैठक करेगा बीसीसीआई

आईपीएल टीमों के मालिकों के साथ बैठक करेगा बीसीसीआई

नई दिल्ली:- भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अगले महीने आईपीएल फ्रेंचाइजियों के मालिकों की बैठक बुलाने पर विचार कर रहा है, जिसके एजेंडे के प्रमुख बिंदुओं में से एक आईपीएल 2022 संस्करण के लिए प्लान बी पेश करना है।

बीसीसीआई देश में हाल ही में ओमिक्रॉन के मामलों की संख्या में तेजी से हुई वृद्धि के मद्देनजर अगले साल अप्रैल-मई में देश भर में कोरोना से होने वाले स्वास्थ्य खतरों को लेकर काफी चिंतित है, क्योंकि तब आईपीएल होना है। ऐसे में बीसीसीआई द्वारा टीमों के मालिकों के साथ सभी परिदृश्यों पर चर्चा करने की संभावना है। हालांकि यह पता चला है कि संयुक्त अरब अमीरात वापस जाने का विकल्प वर्तमान योजनाओं से बाहर है।

आईपीएल की मूल योजना के अनुसार अगर देश में कोरोना स्थिति सामान्य रहती है तो टूर्नामेंट को सामान्य रूप से पहले की तरह घर और घर के बाहर के आधार पर आयोजित किया जाएगा। दो अप्रैल को चेन्नई में इसका शुभारंभ होगा। वहीं अगर स्थिति बिगड़ती है तो वैकल्पिक योजनाओं को सक्रिय किया जाएगा। एक ठोस प्लान बी के अभाव में बीसीसीआई को पिछले संस्करण को मई में बीच में ही रोकना पड़ा था, जब देश कोरोना महामारी की दूसरी लहर की चपेट में था और आखिरकार चार महीने बाद टूर्नामेंट को संयुक्त अरब अमीरात में स्थानांतरित करना पड़ा।

बीसीसीआई कोरोना से हालात बिगडऩे की स्थिति में पूरे टूर्नामेंट को सिर्फ मुंबई और पुणे में या गुजरात के अहमदाबाद, बड़ौदा और राजकोट शहर में आयोजित करने पर भी विचार कर रहा है। हालांकि समझा जाता है कि बैठक मुख्य रूप से परिचयात्मक होगी, जिसमें बीसीसीआई दो नई आईपीएल टीमों लखनऊ और अहमदाबाद के मालिकों का सभी से परिचय कराएगा। बैठक में मालिकों को विकल्पों के साथ-साथ मेगा नीलामी से जुड़ी चीजों से अवगत कराया जाए। कई फ्रेंचाइजी अधिकारी, जिन्होंने पिछले कुछ दिनों में बीसीसीआई से बात की है, ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है क बीसीसीआई यूएई पर विचार नहीं कर रहा है, जहां पिछले दो सत्रों के अधिकतर मैच एक विकल्प के रूप में आयोजित किए गए थे।

मुंबई-पुणे में कराने पर भी होगा विचार

बीसीसीआई साथ ही सिर्फ मुंबई और पुणे या फिर गुजरात में लीग के आयोजन के बारे में विचार कर रही है। क्रिकबज ने अपनी रिपोर्ट में कई फ्रेंचाइजी अधिकारियों का हवाला देते हुए लिखा है,यह बैठक वैसे तो दो नई फ्रेंचाइजियों- लखनऊ और अहमदाबाद को बीसीसीआई के कामकाज से रूबरू कराने को लेकर है। लेकिन साथ ही वे कोविड की स्थिति बिगड़ती देख पूरे टूर्नामेंट को मुंबई और पुणे में आयोजित कराने या फिर गुजरात में अहमदाबाद, बड़ौदा और राजकोट में आयोजित कराने के बारे में भी विचार करेंगे। बैठक में मालिकों को विकल्प के बारे में बताना भी एक लक्ष्य है। कई फ्रेंचाइजियों के अधिकारियों ने बताया कि बोर्ड पिछली बार की तरह लीग को यूएई में आयोजित कराने के बारे में नहीं सोच रहा है।

बीच में रोकना पड़ा था टूर्नामेंट
आईपीएल-2020 का आयोजन बीसीसीआई ने संयुक्त अरब अमीरात में किया था। इसके बाद पिछले साल 2021 में लीग का आयोजन भारत में ही किया गया था लेकिन मई के पहले सप्ताह कोविड ने आईपीएल के बायो बबल में सेंधमारी कर दी थी जिसके कारण लीग को बीच में रोक दिया गया था और फिर चार महीने बाद संयुक्त अरब में लीग के बाकी बचे मैच कराए गए थे।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.