उत्तराखंड में 81 लाख से ज्यादा वोटर 11 हजार मतदान केंद्रों पर करेंगे वोट

उत्तराखंड में 81 लाख से ज्यादा वोटर 11 हजार मतदान केंद्रों पर करेंगे वोट

देहरादून:- मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने देहरादून में प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि चुनाव के दौरान किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए चुनाव आयोग से हेलीकॉप्टर की मांग की है और उम्मीद है कि गढ़वाल और कुमाऊं के लिए दो हेलीकॉप्टर मिल सकते हैं। इसके साथ ही महिलाओं के लिए इस बार सखी पोलिंग बूथ भी बनाया है, जिनकी संख्या 101 है। उत्तराखंड निर्वाचन आयोग के मुताबिक प्रदेश में 81,72,173 कुल मतदाता है।जिसमें 42,38,890 पुरुष, 39,32,995 महिला और 288 अन्य मतदाता हैं।इसके अलावा 11,697 मतदान स्थल हैं।वहीं, कोटद्वार विधानसभा का ढिकाला मतदान केंद्र में सबसे कम 14 वोटर है।जबकि बदरीनाथ विधानसभा का डुमक मतदान केंद्र की पैदल दूरी 20 किमी की है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने देहरादून में प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि चुनाव के दौरान किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए चुनाव आयोग से हेलीकॉप्टर की मांग की है और उम्मीद है कि गढ़वाल और कुमाऊं के लिए दो हेलीकॉप्टर मिल सकते हैं। इसके साथ ही महिलाओं के लिए इस बार सखी पोलिंग बूथ भी बनाया है, जिनकी संख्या 101 है।

एसएसपी ने किया स्ट्रॉन्ग रूम का भ्रमण
आगामी विधानसभा चुनाव के लिए देहरादून की सभी दस विधानसभा सीटों की ईवीएम मशीनें महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज की स्ट्रॉन्ग रूम में रखी गई हैं. जिसका देहरादून एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने निरीक्षण किया. निरीक्षण के दौरान एसएसपी ने स्ट्रॉन्ग रूम का भ्रमण किया साथ ही सुरक्षा में तैनात किए गए अर्धसैनिक बलों और पीएसी के संबंध में जानकारी प्राप्त की. बता दें कि स्ट्रॉन्ग रूम में किसी भी बाहरी व्यक्ति के आवागमन को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित किया गया है. आसपास के क्षेत्र की सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी रखी जा रही है।

इन इकाइयों के अधिकारी-कर्मचारी डालेंगे वोट
देहरादून एसटीएफ, पुलिस मुख्यालय, एसडीआरएफ, आईआरबी द्वितीय, अभिसूचना एवं सुरक्षा मुख्यालय, गढ़वाल परिक्षेत्र, सतर्कता मुख्यालय, अपराध अनुसंधान विभाग, यातायात निदेशालय, पुलिस संचार मुख्यालय, अग्नि एवं आपात सेवा, राजभवन सुरक्षा और मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात सभी पुलिसकर्मी उत्तराखंड पुलिस के मतदान व्यवस्था के लिए राज्य के अलग-अलग जनपद निर्वाचन अधिकारी को जिम्मेदारी दी गई है, जो अपने-अपने जिले के चुनावी सुरक्षा व्यवस्था और फोर्स डेप्लॉयमेंट के हिसाब से पोस्टल बैलेट पेपर के जरिए वोट की व्यवस्था कर रहे हैं।

पोस्टल बैलेट से मतदान करेंगे पुलिसकर्मी
उत्तराखंड में 14 फरवरी को होने जा रहे विधानसभा चुनाव के चलते देहरादून में तैनात सभी इकाइयों के पुलिसकर्मियों का मतदान 9 और 10 फरवरी को पोस्टल बैलट पेपर के जरिए डालने का कार्यक्रम पुलिस लाइन में आयोजित किया जा रहा है. जानकारी के मुताबिक, देहरादून के अंतर्गत आने वाली पुलिस की सभी शाखाओं में तैनात कर्मचारी-अधिकारीयों के लिए पोस्टल बैलट पेपर के जरिए अपना मतदान की व्यवस्था निर्वाचन आयोग द्वारा की गई है।

सबसे दूर डुमक मतदान केंद्र
इसके अलावा प्रदेश में 9 ऐसे मतदेय स्थल हैं, जिनकी पैदल दूरी करीब 15 से 20 किमी है. इसमें बदरीनाथ विधानसभा के अंर्तगत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय डुमक की पैदल दूरी 20 किमी है और साथ ही पिथौरागढ़ में धारचूला विधानसभा के अंतर्गत राजकीय प्राथमिक विद्यालय कनार की पैदल दूरी 18 किमी है। उत्तरकाशी की पुरोला विधानसभा के राजकीय उच्च प्राथमिक विधालय कलाप की पैदल दूरी 13 किमी है।

ढिकाला में सबसे कम 14 वोटर
इसके अलावा मॉडल बूथ भी बनाए गए हैं, जिनकी संख्या 156 है. हरिद्वार में 24 और देहरादून में 23 मॉडल बूथ बनाए गए हैं. वहीं हरिद्वार के खानपुर विधानसभा के नगला इमारती और उधमसिंह नगर के जसपुर विधानसभा के गढ़ी नेगी मतदेय स्थल में सबसे ज्यादा 1248 मतदाता हैं और साथ ही कोटद्वार विधानसभा के ढिकाला में सबसे कम 14 मतदाता हैं।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.