आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर दारमा घाटी में चीन सीमा की अंतिम चौकी लोहाघाट में आईटीबीपी के जवानों ने राष्ट्रीय गान के साथ फहराया तिरंगा

आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर दारमा घाटी में चीन सीमा की अंतिम चौकी लोहाघाट में आईटीबीपी के जवानों ने राष्ट्रीय गान के साथ फहराया तिरंगा

पिथौरागढ़: आजादी की 75 वीं वर्षगांठ पर दारमा घाटी में चीन सीमा की अंतिम चौकी दावे (16698 फुट) में 36 वीं विहिनी लोहाघाट आईटीबीपी ने बड़े शान से राष्ट्रीय गान के साथ तिरंगा फहराया। इस दौरान आईटीबीपी लोहाघाट के सेनानी बसन्त नोगल, चौकी प्रभारी सहायक सेनानी विकास दहिया, समेत जवान मौजूद रहे।

बसंत नोगल ने गोठी, झिमिर गांव, दर, बालिंग, ढाकर, विदांग और दावे के सभी चौकी प्रभारियो व हिमवीरो के साथ-साथ स्थानीय लोगों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी। वहीं, उत्तरकाशी से लगी चीन सीमा पर भी आईटीबीपी के जवानों ने तिरंगा फहराकर आजादी का जश्न मनाया।

उधर,11 वीं एसएसबी डीडीहाट की ओर से भी व्यास घाटी के चीन सीमा के गुंजी, कालापानी और नाभीढांग चौकी तक राष्ट्रीय गान और भारत माता की जयकारों के साथ बड़े शान से तिरंगा झंडा फहराया। धारचूला, गर्ब्यांग, रोंगती पुल में नेपाल सशत्र प्रहरी तथा नेपाल प्रहरी को मिठाई भी बांटी। ध्वजारोहण के बाद सभी सीमा चौकियों व वाहिनी मुख्यालय में वृक्षारोपण भी किया गया।

कार्यवाहक कमांडेंट अमरेन्द्र कुमार वरुण, द्वितीय कमान अधिकारी ने बताया गया कि इस वर्ष 11 वी वाहिनी एसएसबी डीडीहाट ने हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत अनेक महत्वपूर्ण स्थानों पर तिरंगा झंडा फहराया है। इसके अलावा 12,000 से अधिक झंडे वितरित कर हर घर तिरंगा कार्यक्रम को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

धारचूला में झूलापुल पर नेपाल के एपीएफ डिप्टी एसपी जगत डांगा, नेपाल पुलिस के निरीक्षक जगत मगर व भारतीय जवानो ने एक दूसरे को मिष्ठान वितरण कर स्वतंत्रता दिवस धूमधाम से मनाया। नेपाल से आए सेना बल के अधिकारियों ने एसएसबी के अधिकारियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी।

वहीं, धौलीगंगा पावर स्टेशन में भी स्वतंत्रता दिवस समारोह हर्षोल्लास व उत्साहपूर्वक मनाया गया। पावर स्टेशन के तपोवन स्थित प्रशासनिक भवन के प्रांगण में समूह महाप्रबंधक राजीव जैन द्वारा ध्वजारोहण किया गया। इसके बाद सीआईएसएफ के जवानों ने तिरंगे को सलामी दी।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.