रुद्रप्रयाग टीम ने दिखाया दम,साइबर ठगों से वापस दिलाई रकम

रुद्रप्रयाग टीम ने दिखाया दम,साइबर ठगों से वापस दिलाई रकम

उत्तराखंड:- जनपद रुद्रप्रयाग साइबरसैल द्वारा 02अलग अलग प्रकरणों में साइबरठगी के शिकार हुए व्यक्तियों की धनराशि वापस करायी गयी कुछ जानकारी का अभाव कहें या बढ़ता लालच,
या फिर सामने वाले की चालाकी । सामने वाला साइबर ठग हमें अपने जाल में फंसा ही दे रहा है। जितनी देर में हम कुछ समझ पाते है उतनी ज्यादा तेजी से हम इसके शिकार हो जाते है ।

ऐसा ही मामला गुप्तकाशी में सामने आया है। गुप्तकाशी थाना क्षेत्रान्तर्गत स्थित नागजगई के रहने वाले श्री अनिल तिवारी जी को एक अन्जान नम्बर से फोन आता है,जिसमे सामने वाला व्यक्ति इनसे बिजनेस इत्यादि की बातें कर इनसे बातों-बातों में बैंक डिटेल इत्यादि लेकर ओटीपी मांगकर इनके खाते से तुरन्त ‌₹40000 (चालीस हजार रुपये) की निकासी हो जाती है। जब तक ये कुछ समझ पाते सामने वाले का फोन बन्द। हैरान परेशान होकर तुरन्त नजदीकी पुलिस थाने गुप्तकाशी पहुंचकर अपनी शिकायत दर्ज करवाई गयी । थाने से शिकायत साइबर सैल, पुलिस कार्यालय रुद्रप्रयाग में पहुंचती है, जहां पर साइबर सैल में नियुक्त टीम तत्काल अपने स्तर से आवश्यक पत्राचार कर सम्बन्धित गेटवे, वॉलेट इत्यादि की जानकारी ज्ञात कर इन पैसों को फ्रीज करा दिया जाता है। आवश्यक वैरिफिकेशन इत्यादि के उपरान्त उपरोक्तानुसार निकासी हो चुकी सम्पूर्ण धनराशि यानि ₹ 40000 (चालीस हजार रुपये) सम्बन्धित व्यक्ति के खाते में वापस हो गये हैं।

एक ऐसा ही मामला दिनांक 05 जनवरी, 2022 को जखोली में आया है । गाँव के निवासी बुजुर्ग व्यक्ति श्री गंगाराम भट्ट जी को इनके नजदीकी गांव का परिचित बताकर, इनकी अज्ञानता का फायदा उठाकर, इनको पूरी तरह से विश्वास एवं झांसे में लेकर, कई बार ओ0टी0पी0 पूछकर अलग-अलग किश्तों में तकरीबर ₹ 89000 (नवासी हजार रुपये) इनके खाते से निकल गये। लगातार कटौती सम्बन्धी मैसेज आने पर इनके द्वारा अपने बेटे को बताया गया। जिस पर इनके बेटे द्वारा ऑनलाइन शिकायत दर्ज करायी गयी।

इनकी शिकायत दिनांक 06 जनवरी, 2022 को जनपद रुद्रप्रयाग साइबर सैल को प्राप्त होने पर साइबर सैल रुद्रप्रयाग टीम द्वारा आवश्यक पत्राचार इत्यादि किया गया। साथ ही ज्ञात हुआ कि, यह धनराशि अलग-अलग किश्तों में विभिन्न गेटवे, वॉलेट में भेजी गयी थी। पुलिस के स्तर से की गयी कार्यवाही का यह फायदा रहा कि, इनके ₹ 39000 (उनतालीस हजार रुपये) आज इनके खाते में वापस आ गये हैं।
इस प्रकार से जनपद रूद्रप्रयाग साइबर सैल द्वारा 02 अलग-अलग प्रकरणों में साइबर ठगी के शिकार हुए व्यक्तियों के क्रमशः चालीस हजार रुपये एवं उनतालीस हजार रुपये वापस दिलाये गये हैं। इनके द्वारा जनपद रुद्रप्रयाग पुलिस का धन्यवाद ज्ञापित किया गया है।

साइबर ठगी से बचने हेतु सुरक्षा टीम ने निम्नलिखित  टिप जारी की –

1 किसी भी अनजान नम्बर की कॉल न उठायें।
2 किसी भी प्रकार के पैसों की मांग करने वालों को बिल्कुल भी पैसे ना दें। यदि कोई रिश्तेदार होगा तो उसके बारे में आप अच्छे से जानते ही होंगे।
3 किसी भी प्रकार की बिजनेस डील इत्यादि फोन पर न करें अपितु फिजिकल तौर पर भी किया जा सकता है।
4 अगर आप इस तरह की ठगी का शिकार हो गए हैं तो तुरंत आपको नजदीकी पुलिस साइबर सेल में रिपोर्ट करन् है। आपकी रिपोर्ट 20- 30 मिनट के अंदर होनी चाहिए।
नहीं तो पैसे मिलने की संभावना बहुत कम रहती है।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.