उत्तराखंड में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में लगातार दूसरे दिन भी हिमपात

उत्तराखंड में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में लगातार दूसरे दिन भी हिमपात

हल्द्वानी:- पहाड़ों पर मौसम का रंग बदल रहा है। इसके कारण ठंड बढ़ गई है। पिथौरागढ़ में आज फिर से उच्च हिमालयी क्षेत्राें में बर्फ गिरी है। वहीं निचले इलाकों मं बारिश हुई है। वही बागेश्वर में बारिश के साथ ओले गिरे हैं। पिथौरागढ़ के उच्च हिमालय की ऊंची चोटियों पंचाचूली, राजरंभा, नंदा देवी, नंदा कोट, बृजगंग सहित मुनस्यारी के निकट स्थित हंसलिंग में काफी नीचे तक हिमपात हो चुका है। मिलम क्षेत्र में बुगडियार तक बर्फबारी हो चुकी है। इसके अलावा मध्य हिमालयी छिपलाकेदार और खलियाटाप के पाश्र्व क्षेत्र में रूढ़खान तक हिमपात हो रहा है। दारमा, व्यास की चोटियों के साथ ही आदि कैलास, कुटी, ओम पर्वत, नावीढांग, लिपुलेख सहित अन्य चोटियों पर भी अभी बर्फ गिर रही है।

वर्षा होने से तापमान में भारी गिरावट

वहीं मुनस्यारी सहित आसपास के क्षेत्रों में वर्षा होने से तापमान में भारी गिरावट आ चुकी है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में घने बादल छाए हैं। निचले इलाकों में धूप खिली है। धारचूला में हल्की बूंदाबांदी हुई। जिले के अन्य भू भाग में मौसम साफ है और धूप खिली है परंतु उच्च हिमालय में हो रहे हिमपात के चलते ठंडी हवाएं चल रही हैं जिससे तापमान में कमी आई है।

पिंडारी में बनी हिमपात की संभावना 

इधर, बागेश्वर के हिमालयी गांवों में ओलावृष्टि हुई है। जिससे फसलों को नुकसान पहुंचा है। गुरुवार को सुबह से ही यहां घाटी वाले क्षेत्रों में कोहरा छाया हुआ था। दिन चढ़ते ही दस बजे के बाद शीशाखानी, जौलकांडे, लेटी आदि गांवों में हल्की वर्षा शुरू हो गई। कपकोट क्षेत्र के उच्च हिमालयी गांव शामा, कुंवारी, बदियाकोट, खाती, समडर, जांतोली, रिखाड़ी आदि स्थानों पर ओलावृष्टि हुई। जिससे हरी सब्जियों को व्यापक नुकसान पहुंचा है। ओलावृष्टि के बाद पिंडारी में हिमपात की संभावना बनी हुई है। आसमान में बादल रहने से जिले के गरुड़, कांडा, काफलीगैर, दुग नाकुरी आदि तहसीलों में भी शीतलहर दौड़ गई है। लोगों ने ठंड से बचने के लिए अलावा जलाने शुरू कर दिए गए हैं। जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि मौसम विभाग ने वर्षा का पूर्वानूमान जारी किया है। ओलावृष्टि से किसानों को हुए नुकसान का राजस्व विभाग आकलन करेगा।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *