Sunday, January 23, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय "नहीं थम रहा कोरोना का कहर":- किन किन देशो में लगा लॉकडाउन?

“नहीं थम रहा कोरोना का कहर”:- किन किन देशो में लगा लॉकडाउन?

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने दुनिया भर में कोहराम मचाया हुआ है । दुनिया में पिछले सप्‍ताह में कोरोना संक्रमण मामलों में 11 फीसद की वृद्धि हुई है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने चेतावनी दी है कि ओमिक्रोन वैरिएंट से पैदा हुआ खतरा बहुत ज्‍यादा है। दुनिया के 108 देशों में इस वैरिएंट का प्रसार हो चुका है। कई देशों में वायरस के प्रसार से गंभीर स्थिति बनी हुई है। इनमें से कई मुल्‍कों ने अपने देश में आंशिक लाकडाउन लगा दिया है। साथ ही कई देशों ने अपने यहां कठोर प्रतिबंधों को लागू किया है। भारत के कुछ राज्‍यों में ओमिक्रोन ने कहर ढाया है। यह डेल्‍टा वैरिएंट से पांच गुना तेजी से फैल रहा है।

कोरोना की बढती स्थिति को देखते हुए भारत ने वैरिएंट के प्रसार को रोकने के लिए कड़े नियम लागू किये है । इसके साथ ही कनाडा में भी ओमिक्रोन वायरस ने विकराल रूप घारण कर लिया है। कनाडा के ओंटारियो और क्‍यूबेक ने बेहद सख्‍त लाकडाउन लगाए हैं। स्‍कूल और अन्‍य इनडोर एक्टिविटी पूरी तरह से बंद हैं। नियमों के उल्‍लंघन पर सख्‍त सजा का प्रावधान किया गया है। नियम तोड़ने पर छह हजार डालर का जुर्माना है।

साथ ही यूरोपीय देश ब्रिटेन ओमिक्रोन से सबसे ज्‍यादा प्रभावित देशों में से एक है। ब्रिटेन में सरकार दुविधा में है। ब्रिटेन में लाकडाउन का जमकर विरोध हो रहा है। प्रधानमंत्री बोरिस जान्‍सन ने कहा है कि देश में स्‍कूल और व्‍यापारिक क्रियाकलाप बंद नहीं होंगे। यूरोपीय यूनियन के देशों ने बढ़ते कोरोना के बाद स्‍कूल और व्‍यापार बंद नहीं करने का फैसला किया है।

अमेरिका में भी कोरोना वायरस ने विकराल रूप धारण कर लिया है। अमेरिका में संघीय और राज्‍य सरकारें लाकडाउन लगाने से कतरा रही हैं। ओमिक्रोन के प्रसार के बावजूद आधे से ज्‍यादा राज्‍यों में व्‍यापारिक प्रतिष्‍ठान खुले हुए हैं। हालांकि, कुछ राज्‍यों में आंशिक पाबंदियां लगा रखी है। बता दें कि अमेरिका में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं। सोमवार को एक दिन में 13.5 लाख नए मामले सामने आए। किसी देश में एक दिन में इतनी बड़ी संख्या में मामले सामने आने का यह सबसे बड़ा मामला है। इससे पहले अमेरिका में ही इसी साल तीन जनवरी को दस लाख तीस हजार मामले सामने आए थे।

आपको बता दें की चीन में भी ओमिक्रोन का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। चीन के जियान शहर में 22 दिसंबर से सख्‍त लाकडाउन लगा है। कोरोना के प्रकोप के चलते चीन के तीन शहरों में लाकडाउन है। इसके चलते देश की करीब दो करोड़ आबादी घरों के अंदर कैद हो गई है। इसके अलावा शियान में 1.3 करोड़ लोग और युझोउ में 11 लाख लोग लाकडाउन की पाबंदियों के बीच रहेंगे। चीन के कुछ अन्‍य हिस्‍सों में भी सख्‍त पाबंदियां लगाई गई है। चीन में इन नियमों को तोड़ने पर जुर्माने का भी प्रावधान है। दूसरी लहर के बाद दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रोन वैरिएंट का पहला मामला सामने आया था। दक्षिण अफ्रीका में यह वैरिएंट तेजी से फैला। ओमिक्रोन वैरिएंट के प्रसार के दिनों में कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं।

RELATED ARTICLES

कश्मीरी पंडितो को याद कर बोली मिलबेन – दुनिया भर में धार्मिक उत्पीड़न जारी है

अमेरिका: 1990 में कश्मीरी पंडितों का पलायन सबसे बड़ा दुःख देने वाला था। अपने घरो को छोड़ने और अपने धर्म को परिवर्तन करने वाली...

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कि अपनी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस कि तरिफ़, कहा वो हमेशा मेरी साथी रहेगी

अमेरिका: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कि अपनी मौजूदा उपराष्ट्रपति कमला हैरिस कि तरिफ़। उन्होने कहा कि अगर 2024 के चुनाव में वो दोबारा...

खतरा! नहीं सुधरा चीन पैंगोंग त्सो झील के पास बना रहा पुल

चीन: लद्दाख सीमा पर हुए विवाद के बाद भी चीन सुधरने की नाम नही ले रहा। चीन ने पूर्वी लद्दाख में अपनी निर्माण गतिविधियां...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दलित, महिला और संविधान विरोधी है भाजपा : राजेश लिलोठिया

हल्द्वानी: कांग्रेस कमेटी अनुसूचित प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने भाजपा की केंद्र और उत्तराखंड सरकार पर दलित, महिला और संविधान विरोधी होने...

टिहरी शीतलहर की चपेट में बर्फबारी से राजमार्ग 707 ए जगह-जगह पर बंद

नई टिहरी: दूसरे दिन भी रिमझिम बारिश से जनपद टिहरी गढ़वाल में शीतलहर जारी रही। धनोल्टी, काणाताल व सुरकंडा मंदिर क्षेत्र में जमकर बर्फबारी...

महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू

नई टिहरी: विधानसभा धनोल्टी से भाजपा का टिकट न मिलने से खफा महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू कर...

उत्तराखंड में दीपक बिजल्वाण बने 70 विधानसभाओं में सबसे युवा प्रत्याशी, जानिए छात्रसंघ अध्यक्ष से यहां तक का सफर

उत्तरकाशी: दीपक बिजल्वाण का राजनीतिक सफर छात्र राजनीति से शुरू हुआ। दीपक बिजल्वाण सबसे पहले पुरोला महाविद्यालय में छात्र संघ चुनाव में कूदे। वहां...

Recent Comments