भारतीय सेना में दो बार रिजेक्ट हो चुके सैनिकेश रविचंद्रन ने जॉइन की यूक्रेन आर्मी, रूस के खिलाफ लड़ रहे जंग

भारतीय सेना में दो बार रिजेक्ट हो चुके सैनिकेश रविचंद्रन ने जॉइन की यूक्रेन आर्मी, रूस के खिलाफ लड़ रहे जंग

तमिलनाडु के 21 साल के युवक ने यूक्रेनी सेना जॉइन कर ली है। हाइट के चलते भारतीय सेना में दो बार रिजेक्ट होने के बाद सैनिकेश रविचंद्रन रूस के खिलाफ जंग में यूक्रेन का साथ दे रहे हैं। कोयंबटूर में थुडालियुर के सैनिकेश खार्किव नेशनल यूनिवर्सिटी, यूक्रेन में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग स्टूडेंट हैं।

जॉर्जियाई नेशनल लीजन में शामिल हुए सैनिकेश

रिपोर्ट्स के मुताबिक सैनिकेश यूक्रेन की तरफ से जॉर्जियाई नेशनल लीजन की पैरामिलिट्री यूनिट में भर्ती हुए हैं। इंटेलिजेंस के लोग हाल ही में तमिलनाडु में सैनिकेश के घर गए थे। सैनिकेश के माता-पिता ने अधिकारियों को बताया कि वे हमेशा से ही सेना में जाना चाहते थे। उनके कमरे की दीवारें भारतीय सेना के जवानों और अधिकारियों की तस्वीरों से भरी हैं। सैनिकेश की फैमिली ने उनसे घर लौटने को कहा, लेकिन वे नहीं माने।

अमेरिकी सेना में भी झेला रिजेक्शन

सैनिकेश की पढ़ाई विद्या विकासिनी मैट्रिकुलेशन स्कूल से हुई है। सैनिकेश ने 12वीं की पढ़ाई पूरी करने के बाद भारतीय सेना में शामिल होने की कोशिश की, लेकिन अपने छोटे कद के चलते उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया। इसके बाद उन्होंने अमेरिकी सेना में भी शामिल होने की कोशिश की, लेकिन कुछ वजहों से वहां भी उन्हें सफलता नहीं मिली। सितंबर 2018 में सैनिकेश ने खार्किव में नेशनल एयरोस्पेस यूनिवर्सिटी में पांच साल के इंजीनियरिंग कोर्स में एडमिशन लिया जो 2023 में पूरा होगा।

बेटे के फैसले से परिवार नाखुश

फरवरी में जब रूस ने यूक्रेन के खिलाफ जंग की शुरुआत की तो सैनिकेश ने यूक्रेन की तरफ से युद्ध में हिस्सा लेने का फैसला किया। हालांकि, उनका परिवार उनके इस फैसले के खिलाफ है। सैनिकेश के परिवार ने केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों से मिलने का फैसला किया है ताकि वे अपने बेटे को वापस बुला सके।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.