यूक्रेन के समर्थन में उतरा कनाडा

यूक्रेन के समर्थन में उतरा कनाडा

रूस और यूक्रेन के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमीर जेलेंस्की ने 16 फरवरी को रूस पर हमले का एलान कर हलचल और बढ़ा दी है। यूक्रेन को अमेरिका के अलावा कुछ और देशों का भी समर्थन मिल रहा है। इसी बीच, कनाडा ने भी यूक्रेन की मदद करने का फैसला किया है।

कनाडा यूक्रेन को 70 लाख डालर से अधिक के घातक हथियार भेजेगा। कनाडा सरकार ने सोमवार को एक बयान में कहा कि कनाडा यूक्रेन के सशस्त्र बलों को 70 लाख डालर से अधिक के घातक हथियार और सहायता सामग्री दान करेगा। हथियारों में मशीनगन, पिस्तौल, कार्बाइन, 1.5 मिलियन राउंड गोला बारूद, स्नाइपर राइफल और विभिन्न संबंधित उपकरण शामिल हैं। कनाडा ने यूक्रेन की सरकार को अतिरिक्त सैन्य सहायता के लिए अधिकृत किया है जिससे यूक्रेन के सुरक्षाबलों को मदद मिल सके।

एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि कनाडा यूक्रेन की संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और स्वतंत्रता के समर्थन में दृढ़ है। कनाडा रूसी आक्रमण की निंदा करता है क्योंकि यह यूक्रेन के आसपास अपने सैन्यबलों का निर्माण करता है। विज्ञप्ति में आगे कहा गया, ‘कनाडा एक राजनयिक समाधान के लिए प्रतिबद्ध है और रूस को सार्थक बातचीत में शामिल होने के लिए बुलाता है। जैसा कि पहले कहा गया है, रूस की ओर से किसी भी आक्रामकता को गंभीर परिणामों के साथ सामना किया जाएगा, जिसमें समन्वित प्रतिबंध शामिल हैं।’

कनाडा, अपने सहयोगियों और भागीदारों के साथ ही यूक्रेन और उसके लोगों का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है क्योंकि वे रूस की अस्थिर कार्रवाइयों के खिलाफ खुद का बचाव कर रहे हैं। कनाडा की रक्षा मंत्री ने कहा, ‘कनाडा यूक्रेन और उसके आसपास रूस के सैन्य निर्माण से बहुत चिंतित है, जो अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के लिए भी बड़ा खतरा है। हमारे यूक्रेनी भागीदारों के साथ बातचीत के बाद और मेरी हाल की यूक्रेन यात्रा के दौरान कनाडा ने यूक्रेन को उसकी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा में सहायता करने के लिए रक्षात्मक हथियारों के प्रावधान को अधिकृत किया है। मैं अपने यूक्रेनी समकक्ष मंत्री रेजनिकोव के साथ संपर्क में हूं। अपने सहयोगियों के साथ हम यूक्रेन का समर्थन करना जारी रखेंगे क्योंकि यह खुद की रक्षा कर रहा है।’

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.