स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत और पत्नी मधुलिका की अस्थियां शनिवार को हरिद्वार में वीआईपी घाट गंगा में विसर्जित

स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत और पत्नी मधुलिका की अस्थियां शनिवार को हरिद्वार में वीआईपी घाट गंगा में विसर्जित

देहरादून:- देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत की अस्थियां शनिवार को हरिद्वार के वीआईपी घाट पर गंगा में विसर्जित की गई। जनरल रावत की दोनों बेटियां दिल्ली से अस्थि कलश लेकर हरिद्वार वीआईपी घाट पहुंची जहां पर पंडितों ने गंगा घाट पर पारंपरिक पूजन किया। इसके बाद जनरल रावत की दोनों बेटियों कृतिका और तारिणी ने अपने माता-पिता की अस्थियों को नमन कर गंगा में प्रवाहित किया। इस दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हरिद्वार के वीआईपी घाट पर स्वर्गीय जनरल बिपिन रावत की पुत्रियों से भेंट कर उन्हे सांत्वना दी।

सीडीएस को अंतिम विदाई देने पहुंचे केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने शोक संवेदना व्यक्त करते कहा कि अभी हाल ही नौ नवंबर को राज्य स्थापना दिवस पर उनसे मुलाकात हुई थी। उनसे उत्तराखंड और देश की सुरक्षा आदि मसलों को लेकर विस्तृत चर्चा हुई थी। उनका विशेष लगाव उत्तराखंड से था। हाल ही उन्हें रायवाला रेलवे रेलवे स्टेशन के पास आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होना था, जिसकी तैयारियां भी जोर शोर से चल रही थी।

वहीं इस मौके पर केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने भी जनरल बिपिन रावत के अस्थियों पर पुष्प अर्पित कर अपनी श्रद्धांजलि दी। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि उनका सामाजिक रूप से जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है जिसका पूरे देश में शोक मनाया जा रहा है केवट ने कहा कि सीडीएस बिपिन रावत बहुत ही जुझारू और देशभक्त इंसान थे और बहुत कुछ कर गुजरने की इच्छा रखते थे उनके कामों को आगे बढ़ाया जाएगा और देश की रक्षा के लिए जो कुछ भी उन्होंने किया उसे कभी भी नहीं भुलाया जा सकता है ।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक , कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, धन सिंह रावत, गणेश जोशी, विधायक संजय गुप्ता, हरिद्वार मेयर अनिता शर्मा, ऋषिकेश मेयर अनीता ममगई, जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे, अपर जिलाधिकारी वीर सिंह बुदियाल, सिटी मजिस्ट्रेट अवधेश कुमार सिंह अलावा कई सैन्य अधिकारी मौजूद रहे।

ऋषिकेश में बनेगा जनरल रावत के नाम पर स्मृति द्वार

उत्तराखंड के गौरव भारत के प्रथम सीडीएस जनरल विपिन रावत की स्मृति को चिरस्थाई बनाने के लिए नगर निगम ऋषिकेश उनकी स्मृति में द्वार का निर्माण कराएगा। देश के दिंवगत सर्वोच्च सैन्य अधिकारी के नाम पर नाम गढ़वाल मंडल तथा चार धाम यात्रा के प्रवेश द्वार तीर्थनगरी में ऋषिकेश नगर निगम की सीमा के प्रराम्भ स्थल ऋषिकेश-हरिद्वार मार्ग पर स्मृति द्वार बनाए जाने की महापौर अनिता ममगाईं ने घोषणा की है। इसके लिए महापौर ने निगम के पार्षदों तथा अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण भी किया।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.