यूक्रेन को और घातक हथियार देंगे अमेरिका व सहयोगी देश

यूक्रेन को और घातक हथियार देंगे अमेरिका व सहयोगी देश

रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध 64वें दिन में प्रवेश कर गया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरस राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की से बातचीत करने के लिए बुधवार को यूक्रेन पहुंचे। इससे पहले उन्होंने मॉस्को में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की थी जिन्होंने मैरियूपोल में अजोवस्ताल संयंत्र से आम लोगों को निकालने में संयुक्त राष्ट्र को शामिल करने पर सैद्धांतिक मंजूरी दी। गुटेरस ने ट्वीट किया, “मॉस्को का दौरा करने के बाद मैं यूक्रेन पहुंचा हूं। हम मानवीय सहायता को विस्तार देने और युद्ध क्षेत्र से लोगों को निकालने के लिए कार्य करना जारी रखेंगे। जितनी जल्दी यह युद्ध समाप्त होगा, यूक्रेन, रूस और दुनिया के लिए उतना बेहतर होगा।” गुटेरस बृहस्पतिवार यानी आज जेलेंस्की और विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा से मुलाकात करेंगे।

जर्मनी के रैमस्टीन एयर बेस पर अमेरिका समेत 40 देशों के प्रतिनिधियों की बैठक में यूक्रेन को भारी हथियारों से लैस करने का फैसला किया गया है। यहीं अमेरिकी वायुसेना का यूरोपीय मुख्यालय भी है। अमेरिकी रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा, रूस के खिलाफ लड़ाई में यूक्रेन को मदद के हमारे संकल्प के साथ दुनियाभर के देश एकजुट हैं। अमेरिका और यूरोप के उसके सहयोगी देशों ने कीव को होवित्जर तोप, ड्रोन, एंटी-एयरक्राफ्ट स्टिंजर और एंटी-टैंक जवेलीन मिसाइलें देने का एलान किया है। अपने पुराने रुख से हटते हुए जर्मनी ने भी यूक्रेन को एंटी टैंक और एंटी एयरक्राफ्ट गन देने की घोषणा की है।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.