Sunday, January 23, 2022
Home उत्तराखंड मुख्यमंत्री धामी ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज - अमृत महोत्सव में की शिरकत

मुख्यमंत्री धामी ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज – अमृत महोत्सव में की शिरकत

हरिद्वार:- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज के प्रेक्षागृह में स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के अन्तर्गत आयोजित ’’हरिद्वार संवाद’’ कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ मंत्रोच्चारण के बीच दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में आगामी मार्च 2022 तक अमृत महोत्सव के कार्यक्रमों के आयोजनों की योजना बनाई गयी है, जिसमें लगातार नये-नये विचारों की श्रृंखला सामने आ रही है। ऐसे आयोजनों से अमृत निकलेगा, गति मिलेगी तथा रास्ता मिलेगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हमारी संस्कृति के उत्थान के लिये जो प्रयास किये हैं, वे अतुलनीय हैं। केदारपुरी का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि केदारपुरी में 400 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास हुआ है। केदारपुरी में आस्था पथ बन चुका है तथा चिकित्सालय व अतिथि गृह आदि बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि वहां दूसरे चरण के कार्य चल रहे हैं तथा तीसरे चरण के कार्यों का प्रारम्भ आगामी अप्रैल, 2022 तक हो जायेगा। उन्होंने कहा कि बद्रीनाथ का मास्टर प्लान बन गया है, जिसके लिये 250 करोड़ रूपये की स्वीकृत हो चुके हैं तथा वहां भी जल्दी ही कार्य प्रारम्भ होगा।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने काशी विश्वनाथ का उल्लेख करते हुये कहा कि काशी में काफी अंतर आया है। पहले गंगा घाट से रास्ता नहीं मिलता था, आज वह संकरा रास्ता, हाईवे का रूप धारण कर चुका है। आज काशी दिव्य व भव्य बन चुकी है। उन्होंने कहा कि मैं 1998 के बाद विगत दिनों अयोध्या गया था, अयोध्या दुनिया के नक्शे का प्रमुख स्थान होगा। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हमारा देश हर क्षेत्र में प्रगति कर रहा है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जब हम राज्य स्थापना का 25वां वर्ष मनायेंगे, उस समय हमारा उत्तराखण्ड हर क्षेत्र में भारत के अग्रणी राज्यों में से एक होगा। उन्होंने कहा कि रोज हम उत्तराखण्ड व उत्तराखण्ड की जनता के लिये फैसले ले रहे हैं तथा साथ ही उनका शासनादेश भी निकाल रहे हैं, उन योजनाओं को धरातल पर उतार रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगला दशक उत्तराखण्ड का दशक होगा। यह हम सबकी सामूहिक यात्रा है।

इस अवसर पर जूना पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानन्द गिरि महाराज ने कहा कि कुछ पल ऐतिहासिक होते हैं। यह दशक उत्तराखण्ड का दशक है। केदारनाथ, बद्रीनाथ तथा काशी का कायाकल्प हुआ है। जिस तरह से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी नेतृत्व कर रहे हैं, उससे सभी उत्साहित हैं।

RELATED ARTICLES

दलित, महिला और संविधान विरोधी है भाजपा : राजेश लिलोठिया

हल्द्वानी: कांग्रेस कमेटी अनुसूचित प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने भाजपा की केंद्र और उत्तराखंड सरकार पर दलित, महिला और संविधान विरोधी होने...

टिहरी शीतलहर की चपेट में बर्फबारी से राजमार्ग 707 ए जगह-जगह पर बंद

नई टिहरी: दूसरे दिन भी रिमझिम बारिश से जनपद टिहरी गढ़वाल में शीतलहर जारी रही। धनोल्टी, काणाताल व सुरकंडा मंदिर क्षेत्र में जमकर बर्फबारी...

महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू

नई टिहरी: विधानसभा धनोल्टी से भाजपा का टिकट न मिलने से खफा महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू कर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दलित, महिला और संविधान विरोधी है भाजपा : राजेश लिलोठिया

हल्द्वानी: कांग्रेस कमेटी अनुसूचित प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश लिलोठिया ने भाजपा की केंद्र और उत्तराखंड सरकार पर दलित, महिला और संविधान विरोधी होने...

टिहरी शीतलहर की चपेट में बर्फबारी से राजमार्ग 707 ए जगह-जगह पर बंद

नई टिहरी: दूसरे दिन भी रिमझिम बारिश से जनपद टिहरी गढ़वाल में शीतलहर जारी रही। धनोल्टी, काणाताल व सुरकंडा मंदिर क्षेत्र में जमकर बर्फबारी...

महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू

नई टिहरी: विधानसभा धनोल्टी से भाजपा का टिकट न मिलने से खफा महावीर रांगड ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनावी तैयारियां शुरू कर...

उत्तराखंड में दीपक बिजल्वाण बने 70 विधानसभाओं में सबसे युवा प्रत्याशी, जानिए छात्रसंघ अध्यक्ष से यहां तक का सफर

उत्तरकाशी: दीपक बिजल्वाण का राजनीतिक सफर छात्र राजनीति से शुरू हुआ। दीपक बिजल्वाण सबसे पहले पुरोला महाविद्यालय में छात्र संघ चुनाव में कूदे। वहां...

Recent Comments