बिजली बिल जमा करने के नाम पर साइबर ठगों द्वारा लाखों रुपये की धोखाधड़ी

बिजली बिल जमा करने के नाम पर साइबर ठगों द्वारा लाखों रुपये की धोखाधड़ी

देहरादून:-  वर्तमान समय में साइबर अपराधी द्वारा आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु बिजली /पानी/क्रेडिट कार्ड का बिल जमा न होने के नाम पर बिजली कनेक्शन काटने व बिल को ऑनलाईन जमा कराने के नाम पर धोखाधडी किये जाने सम्बन्धित अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है । इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा स्वंय को बिजली बिभाग से बताते हुए फोन के माध्यम से सम्पर्क कर लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है ।

इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को प्राप्त हुआ जिसमें *शिकायतकर्ता विरेन्द्र कुमार ओझा निवासी तेगबहादुर रोड थाना डालनवाला जनपद देहरादून को दिनाँक 09.07.2022 को मोबाईल फोन पर SMS प्राप्त हुआ कि उनके द्वारा बिजली का बिल जमा नही करा है और अगर आज जमा नही करा तो आपकी बिजली रात 9.30 बजे तक कट जायेगी।

जिस पर अज्ञात व्यक्ति द्वारा शिकायतकर्ता को फोन से सम्पर्क कर शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा Online बिल जमा कर दिया था। जिस पर उनके द्वारा कहा कि हमारे यहाँ अभी तक नहीं पहुँचा है, हो सकता है कि आपके a/c से debit हो गया होगा। जिसके पश्चात उनके द्वारा शिकायतकर्ता को कहा कि आपको एक अपडेशन फार्म भरना होगा और उसमे आपको केवल 10 रु ट्रॉन्सफर करने हैं। इसके लिये उनके द्वारा शिकायतकर्ता से play store के माध्यम से एक App Quick support डाउनलोड कराया गया। जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा उक्त अज्ञात व्यक्ति को बिजली विभाग का कर्मचारी समझ कर App download किया तथा उसके उपरान्त शिकायतकर्ता की अनुमती के बिना उनके HDFC Bank,SBI व PNB अलग-अलग खातों से कुल 2,99,857/- रु0 (दो लाख निन्यानवे हजार आठ सौ सत्तावन ) की online धोखाधड़ी की गयी।*
शिकायतकर्ता की शिकायत के आधार साईबर हेल्पलाईन पोर्टल 1930 पर शिकायत दर्ज कर शून्य में अभियोग पंजीकृत किया गया तथा प्रकरण अग्रिम विवेचना हेतु जनपद देहरादून को भेजा गया है ।
अपील

प्रभारी एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है, कि वे ऑनलाइन बिजली,पानी व आदि का बिल जमा कराने के पश्चात अपने निकटतम बिजली,पानी व आदि विभागों से सम्पर्क कर पूर्ण जाँच कर लें कि आपका बिल ऑनलाईन जमा हुआ है या नहीं। किसी भी प्रकार का ऑनलाईन कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर हेल्पलाईन 1930 या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें ।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.