हरियाणा सरकार ने स्टेज- 3 व 4 के कैंसर पीड़ितों के लिए 2500 रुपये मासिक पेंशन शुरू करने का लिया निर्णय

हरियाणा: सरकार ने स्टेज- 3 व 4 के कैंसर पीड़ितों के लिए 2500 रुपये मासिक पेंशन शुरू करने का निर्णय लिया है। योजना के लिए बजट में 68 करोड़ 42 लाख रुपये से अलग से प्रावधान किया जाएगा। नए साल से प्रदेश में यह योजना लागू होगी। यह सहायता उन मरीजों को दी जाएगी जिनके परिवार की वार्षिक आय तीन लाख रुपये तक है। इससे प्रदेश के हजारों कैंसर पीड़ितों को मदद मिलेगी। इससे पहले देश में केवल त्रिपुरा ही एक ऐसा राज्य है जो स्टेज-3 के कैंसर पीड़ितों को 1000 रुपये की मासिक वित्तीय सहायता दे रहा है।मई माह में मुख्यमंत्री मनोहर लाल कैंसर पीड़ितों के परिवारों से मिले थे, उस समय मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया था कि वह मानवता के नाते कैंसर पीड़ितों की हरसंभव मदद करेंगे। अब हरियाणा सरकार ने इस योजना को मूर्त रूप दे दिया है। सामाजिक एवं अधिकारिता विभाग ने यह सुझाव दिया है कि यह पेंशन मरीज के जीवित रहने तक जारी रहेगी।

निर्णय के अनुसार अगर मरीज किसी अन्य प्रकार की सामाजिक सुरक्षा पेंशन या वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना का लाभ ले रहा है तो उसे भी 2500 रुपये की मासिक पेंशन अतिरिक्त रूप से मिलेगी। इससे पहले भी सरकार ने राहत कोष से कैंसर पीड़ितों को दी जाने वाले एक लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता देने की प्रक्रिया को सरल करते हुए जिला स्तर पर ही देने के आदेश दिए थे, जबकि पहले मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा स्वीकृत की जाती थी।पेंशन सीधे बैंक खातों में सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन व्यवस्था (पीएफएमएस) के जरिये स्थानांतरित की जाएगी। इस योजना के लाभ के लिए परिवार पहचान पत्र में दर्शाई गई वार्षिक आय के तथ्यों से मिलान किया जाएगा। सिविल सर्जन कार्यालय की कमेटी द्वारा सत्यापित दस्तावेजों को सरल केंद्र के माध्यम से अपलोड करना होगा।

आवेदक को राशन कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, बैंक पासबुक, टेलीफोन, पानी, बिजली या अन्य उपयोगिता वाले बिल, जिसमें घर का पता अंकित हो या भू-रिकॉर्ड के दस्तावेज, परिवार पहचान पत्र को सरल केंद्र में साथ लाना होगा। आशा वर्कर, एएनएम मरीज के जीवित होने के प्रमाण पत्र को सत्यापित करेगी जिसे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रति हस्ताक्षर किया जाएगा। इसके बाद पेंशन शुरू हो जाएगी।

एनसीआरपी के जारी आंकड़ों के अनुसार 2020 में हरियाणा में 29,219 कैंसर के मामले सामने आए थे। इसके बाद 2022 में कैंसर के मामलों में 1632 की वृद्धि के साथ 30851 दर्ज किए गए। प्रदेश में 2020-2022 के बीच दो सालों में 888 लोगों की कैंसर से मौत हुई है। हरियाणा में 57 लाख परिवार हैं जिनकी जनसंख्या 2 करोड़ 85 लाख है। इनमें से 37.45 लाख से अधिक परिवार ऐसे हैं जिनकी सालाना आय परिवार पहचान पत्र में 3 लाख रुपये से कम है। फिलहाल सरकार 3 लाख रुपये सालाना कम आय वाले कैंसर मरीजों का डाटा तैयार कर रही है।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *