राहुल गांधी नहीं तो कौन बन सकता है कांग्रेस का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष, जानिए दौड़ में कौन-कौन से नाम है शामिल

राहुल गांधी नहीं तो कौन बन सकता है कांग्रेस का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष, जानिए दौड़ में कौन-कौन से नाम है शामिल

नई दिल्ली:- कांग्रेस पार्टी के नये अध्यक्ष के लिए चुनाव की प्रक्रिया रविवार को शुरू हो गई। साथ ही, पार्टी के चुनाव प्राधिकरण ने कहा है कि वह 20 सितंबर तक (पार्टी का) नया प्रमुख चुने जाने के कार्यक्रम पर अडिग रहेगा। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने श्पीटीआई-भाषाश् को बताया कि पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की अंतिम तारीख को मंजूरी देना कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) पर निर्भर है, जो 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच कोई भी दिन हो सकता है। हालांकि, पार्टी के कुछ वर्गों ने कांग्रेस के शीर्ष पद के लिए चुनाव लड़ने की राहुल गांधी की कथित अनिच्छा, ‘प्नान बी’ (कोई दूसरी योजना) नहीं होने और अगले महीने होने वाली पार्टी की श्भारत जोड़ो यात्राश् को ध्यान में रखते हुए आंतरिक चुनाव प्रक्रिया में देरी होने की बात से इनकार नहीं किया है।

कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए गैर गांधी नेताओं के संभावित नाम:-
1. अम्बिका सोनी
2. अशोक गहलोत
3. मल्लिकार्जुन खड़गे
4. केसी वेणुगोपाल
5. कुमारी शैलजा
6. मुकुल वासनिक

कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया कल यानी 21 अगस्त से शुरू हो जाएगी। इसे 20 सितंबर तक पूरा होना है। गांधी परिवार से ही अगला अध्यक्ष होने की सबसे ज्यादा आसार जताए जा रहे हैं। हालंकि, कांग्रेस के अलग-अलग धड़ों की पसंद अलग-अलग है। कोई राहुल गांधी को अध्यक्ष पद पर देखना चाहता है तो कोई सोनिया या प्रियंका गांधी को। एक गुट ऐसा भी है जो चाहता है कि नया अध्यक्ष गांधी परिवार से हटकर हो। ऐसी स्थिति में सोनिया और राहुल गांधी ये तय नहीं कर पा रहे कि वो क्या करें? अगर गांधी परिवार से हटकर अध्यक्ष चुना जाता है तो दावेदार कौन है? कांग्रेस अध्यक्ष का चयन नहीं हो पाने की वजह क्या है? आइए जानते हैं….।

सीडब्ल्यूसी ने फैसला किया था कि 16 अप्रैल से 31 मई, 2022 तक प्रखंड समितियों (ब्लॉक कमेटी) और प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) के एक-एक सदस्य के लिए चुनाव होंगे। जिला समिति के अध्यक्ष पद और कार्यकारिणी का चुनाव एक जून से 20 जुलाई के बीच, पीसीसी प्रमुखों तथा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) सदस्यों का चुनाव 21 जुलाई से 20 अगस्त 2022 के बीच और एआईसीसी के अध्यक्ष का चुनाव 21 अगस्त से 20 सितंबर के बीच होगा। मिस्त्री ने कहा, हम कार्यक्रम पर अडिग रहेंगे। हम पहले ही पार्टी नेतृत्व को चुनाव कार्यक्रम भेज चुके हैं और सीडब्ल्यूसी की मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं, जो कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की अंतिम तारीख तय करेगी। यह पूछे जाने पर कि क्या प्रखंड, जिला और प्रदेश कांग्रेस समितियों के स्तर पर संगठनात्मक चुनाव संपन्न हो गए हैं, इसके जवाब में उन्होंने कहा कि प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

हालांकि, मिस्त्री ने कहा कि चुनाव प्राधिकरण एआईसीसी प्रतिनिधियों के चयन को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है। ये प्रतिनिधि पार्टी के शीर्ष पद के लिए होने वाले महत्वपूर्ण चुनाव में मतदान करेंगे।
उन्होंने कहा, कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) चुनाव की अंतिम तारीख को मंजूरी देगी। भले ही मिस्री जोर देकर यह कह रहे हों कि चुनाव प्राधिकरण चुनाव कार्यक्रम पर अडिग रहेगा, लेकिन इस महत्वपूर्ण पद के लिए संभावित उम्मीदवारों को लेकर पार्टी में अब भी असमंजस दिखाई दे रहा है। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस के शीर्ष पद के लिए चुनाव नहीं लड़ने की अपनी इच्छा से अवगत कराते रहे हैं।

हालांकि, कांग्रेस के कुछ वर्गों ने राहुल गांधी की इस कथित अनिच्छा का हवाला देते हुए आंतरिक चुनाव प्रक्रिया में देरी होने से इनकार नहीं किया है। पार्टी के नेताओं ने कहा कि पार्टी का ध्यान श्भारत जोड़ो यात्राश् पर भी है, जो 7 सितंबर से शुरू होनी है। राहुल गांधी द्वारा कन्याकुमारी से कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाये जाने की संभावना है। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, श्श्राहुल गांधी की शीर्ष पद में दिलचस्पी नहीं है और भारत जोड़ो यात्रा की तारीखें व तैयारी कार्यक्रम, कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव की पहले से निर्धारित योजना से टकरा रहे हैं। ऐसे में यह देखना होगा कि आंतरिक चुनाव समय पर हो पाएंगे या नहीं। यात्रा की योजना को लेकर रविवार को एक बैठक भी हुई।

कांग्रेस की मौजूदा अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी का कहना है कि 20 सितंबर तक कांग्रेस को अपना नया अध्यक्ष मिल जाएगा। इस बीच, माना जा रहा है कि जी-23 समूह के नेता चुनाव प्रक्रिया और इसकी पारदर्शिता पर नजर रखे हुए हैं। गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और मनीष तिवारी सहित जी-23 में शामिल नेता सीडब्ल्यूसी से लेकर ब्लॉक स्तर तक सही तरीके से चुनाव कराये जाने पर जोर दे रहे हैं। कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव को लेकर सरगर्मियां फिर तेज हो गई हैं. कहा जा रहा है कि पार्टी अपने नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए जल्द ही प्रक्रिया शुरू करने जा रही है. अध्यक्ष के चुनाव की तारीख और इसकी प्रक्रिया का ऐलान 4 से 5 दिनों में होने की संभावना जताई गई है. इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दो टूक कहा है कि किसी गैर गांधी को ही अध्यक्ष चुना जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि 2014 में सोनिया गांधी और 2019 में मेरी अध्यक्षता में पार्टी चुनाव हारी थी. ऐसे में अब किसी और शख्स को पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.