भारत का औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial production growth) मार्च में 1.9 फीसद बढ़ा

भारत का औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial production growth) मार्च में 1.9 फीसद बढ़ा

औद्योगिक उत्‍पादन के मोर्चे पर मार्च में प्रर्दशन शानदार रहा है। भारत का औद्योगिक उत्‍पादन (Industrial production growth) मार्च में 1.9 फीसद बढ़ा है। गुरुवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, मार्च 2022 में भारत के औद्योगिक उत्पादन में इतनी बढ़ोतरी दर्ज की गई। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा जारी औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) के आंकड़ों के अनुसार, मार्च 2022 में विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन (manufacturing sector’s output) 0.9 प्रतिशत बढ़ा। खनन उत्पादन (Mining Output) में 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई जबकि बिजली उत्पादन (Power Generation) में 6.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

2021-22 के दौरान IIP 11.3 प्रतिशत बढ़ा

आंकड़ों के मुताबिक मार्च 2021 में IIP 24.2 फीसदी बढ़ा था। 2021-22 के दौरान IIP 11.3 प्रतिशत बढ़ा, जबकि 2020-21 में 8.4 प्रतिशत कॉन्‍ट्रैक्‍शन हुआ था। मार्च 2020 से कोरोनो वायरस महामारी के कारण औद्योगिक उत्पादन प्रभावित हुआ है, जब इसने 18.7 प्रतिशत का कॉन्‍ट्रैक्‍शन देखा था।

लॉकडाउन के मद्देनजर आर्थिक गतिविधियों में रही गिरावट

अप्रैल 2020 में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के मद्देनजर आर्थिक गतिविधियों में गिरावट के कारण यह 57.3 प्रतिशत कम हो गया।

Capital Goods के उत्पादन में मार्च 2022 में 0.7 प्रतिशत की वृद्धि

Capital Goods के उत्पादन ने मार्च 2022 में 0.7 प्रतिशत की वृद्धि दिखाई, जो एक साल पहले इसी महीने में 50.4 प्रतिशत की वृद्धि थी। कंज्यूमर ड्यूरेबल्स सेगमेंट एक साल पहले 59.9 फीसदी की वृद्धि के मुकाबले 3.2 फीसदी की गिरावट के साथ निगेटिव बना हुआ है। Primary goods segment, जिसका सूचकांक में लगभग 34 प्रतिशत हिस्सा है, में मार्च में 5.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई। पहले यह बढ़ोतरी 7.9 फीसद थी।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.