क्या यमकेश्वर में खेला जा रहा है अवैध शराब का खेल?

क्या यमकेश्वर में खेला जा रहा है अवैध शराब का खेल?

यमकेश्वर: उत्तराखंड में चुनावी मतदान भले ही 14 फरवरी को सम्पन्न हो चुके हों और मतगणना 10 मार्च को आने हैं लेकिन इसी 10 मार्च को यह तय होगा कि किसके सर पर ताज सजेगा। इन्हीं सब के बीच अब अलग अलग विधानसभाओ में तरह तरह की खबरें भी सामने आ रही हैं। ये खबरें हैं चुनाव के दौरान शराब बाटे जाने को लेकर। बात सोशल मीडिया की करें तो कई सोशल मीडिया पर अवैध शराब ,ओवर रेटिंग को लेकर लगातार आरोप -प्रत्यारोप किया जा रहा है ।

क्या यमकेश्वर में खेला जा रहा है अवैध शराब का खेल?

बात यमकेश्वर ब्लॉक की करते हैं जो पौड़ी जिले की एक विधानसभा भी है । इस बार के विधानसभा चुनाव में यहां भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला कांटे का है । संभवता इस 2022 के विधानसभा चुनाव में यमकेश्वर विधानसभा में भाजपा का किला ढह सकता है। लेकिन इन सब के बीच बड़ी बात यह है कि सोशल मीडिया पर बीते कुछ दिन से एक जंग छिड़ी हुई है। यह जंग है यमकेश्वर में अवैध शराब के कारोबार का।

आपको बता दें कि चुनाव के दौरान सूत्रों के मुताबिक यमकेश्वर में कई जगहों पर अवैध शराब बाटी गई। साथ ही कई विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि यमकेश्वर के कांडाखाल में अंग्रेजी शराब की दुकान तो है लेकिन फिर भी खुलेआम रूप से अवैध और मिलावटी तरीके से शराब का कारोबार किया जा रहा है।

आपको बता दे कि यमकेश्वर के गुमालगावँ के जिला पंचायत सदस्य विनोद डबराल ने सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को उठाया है।विनोद डबराल के मुताबिक कांडाखाल में स्थित शराब की जो दुकान है वहां से अवैध, ओवर रेटिंग और मिलावटी शराब का कार्य किया जाता है। ऐसे में कई बार क्षेत्र में मिलावटी शराब पीने से कई लोगों की जान भी गई है। उन्होंने कहा कि वह जल्द ही एसडीएम यमकेश्वर से मिलेंगे और शराब का जो अवैध कारोबर कांडाखाल में किया जा रहा है इस बाबत ज्ञापन देंगे।

बताते चले कि विनोद डबराल गुमालगावँ के जिला पंचायत सदस्य के साथ यमकेश्वर कांग्रेस कमेटी के ब्लॉक अध्यक्ष भी हैं। साथ ही ये लगातार सामाजिक कार्यो में भी सक्रिय रहते हैं। बकौल विनोद डबराल अवैध शराब के साथ चुनाव के दौरान एक पार्टी विशेष को इसी दुकान से अवैध तरीके से मिलावटी शराब बांटी गई।

हालांकि देखना होगा कि पहाड़ो में जिस तरह से अवैध और मिलावटी शराब का गोरख धंधा किया जा रहा है इसके ऊपर साशन – प्रशासन क्या कारवाही करता है?

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.