प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिर बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, दुनिया के 22 देशों के नेताओं को छोड़ा पीछे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिर बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, दुनिया के 22 देशों के नेताओं को छोड़ा पीछे

न्यूयॉर्क (New York): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता चुने गए हैं। अमेरिकी डेटा इंटेलिजेंस फर्म (American data intelligence firm) द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अप्रूवल रेटिंग में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बेनेस समेत दुनिया के 22 देशों के नेताओं को पीछे छोड़ दिया है। पीएम मोदी की अप्रूवल रेटिंग 75% है। वे पिछले दो साल से लगातार इस रेटिंग में टॉप पर बने हुए हैं।

इस लिस्ट में अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन 41% की रेटिंग के साथ 11वें नंबर पर हैं। पिछली बार वे छठवें नंबर पर थे। वहीं ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन इस बार 10वें से 20वें स्थान पर खिसक गए। रिपोर्ट में दूसरे नंबर पर मेक्सिको के राष्‍ट्रपति आंद्रेस मेनुएल लोपेज ओब्राडोर रहे, जिन्हें 63% लोगों ने वोट किया। वहीं, तीसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बेनेस हैं, जिन्हें 58% लोगों ने पसंद किया। यह सर्वे इस साल 17 अगस्त से 23 अगस्त के बीच किया गया था।

पहले भी रह चुके हैं नंबर-1

मोदी इस रेटिंग लिस्ट में पिछले दो साल से लगातार टॉप पर बने हुए हैं। जनवरी में कराए गए पिछले सर्वे में भी पीएम मोदी की लोकप्रियता सबसे ज्यादा थी। इसी साल 13 से 19 जनवरी के बीच 71% लोगों की पसंद के साथ पीएम मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बने थे। सितंबर 2021 में मोदी को फिर से सबसे चर्चित और लोकप्रिय नेता का दर्जा मिला था। इससे पहले मई 2020 में 84% लोकप्रियता के साथ सूची में पहला स्थान हासिल किया था।

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान गिरी लोकप्रियता

द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे के मुताबिक, भारत में कोरोना की दूसरी लहर (साल 2021) के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की डिसअप्रूवल रेटिंग (लोकप्रियता में गिरावट) पीक पर थी। तब कोरोना के कारण अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी ने देश को बुरी तरह से प्रभावित किया था। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने इस मुश्किल हालात से जल्द ही निजात पा लिया।

मई 2020 में सबसे ज्यादा 84% पर थी अप्रूवल रेटिंग

प्रधानमंत्री मोदी की अप्रूवल रेटिंग मई 2020 में सबसे ज्यादा 84% पर थी। तब भारत कोरोना महामारी से बाहर निकल रहा था। इसी साल जून में जारी हुई अप्रूवल रेटिंग की तुलना में इस बार प्रधानमंत्री मोदी की अप्रूवल रेटिंग बेहतर हुई है। जून में मोदी की अप्रूवल रेटिंग 66% थी। मोदी की डिसअप्रूवल रेटिंग में गिरावट भी आई है। करीब 25% की गिरावट के साथ अब यह लिस्ट में सबसे निचले स्थान पर है।

ऐसे बनती है अप्रूवल-डिसअप्रूवल रेटिंग (This is how approval-disapproval rating is made)

द मॉर्निंग कंसल्ट अप्रूवल और डिसअप्रूवल रेटिंग (the Morning Consult Approval and Disapproval Rating) 7 दिनों के मूविंग एवरेज के आधार पर निकालती है। इस कैलकुलेशन में 1 से 3 प्रतिशत तक का प्लस-माइनस मार्जिन होता है। यानी अप्रूवल और डिसअप्रूवल रेटिंग में 1 से 3 प्रतिशत तक की कमी या वृद्धि हो सकती है। इस आंकड़े को तैयार करने के लिए मॉर्निंग कंसल्ट ने भारत में करीब 2126 लोगों का ऑनलाइन इंटरव्यू किया था।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.