लोक निर्माण विभाग के बजट है लेकिन फिर भी अटके हैं सड़कों के नवीनीकरण के काम, जानिए क्या कहना है जिम्मेदार अधिकारियों का.?

लोक निर्माण विभाग के बजट है लेकिन फिर भी अटके हैं सड़कों के नवीनीकरण के काम, जानिए क्या कहना है जिम्मेदार अधिकारियों का.?

हल्द्वानी: उत्तराखंड में लोक निर्माण विभाग की कार्यशैली हमेशा सुर्खियों में रहती है। अपने अच्छे कामों को लेकर कम और लापरवाह रवैये को लेकर ज्यादा। इस बार तो लोक निर्माण विभाग के खाते में पैसे होने के बावजूद बरसात में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। बारिश की स्थिति में पैचवर्क से लेकर सड़कों के नवीनीकरण के काम भी अटकेंगे। लोनिवि का कहना है कि लक्ष्य वित्तीय वर्ष में पूरा करना है। मौसम के साथ देने पर काम चलता रहेगा।

लोक निर्माण विभाग की हल्द्वानी डिवीजन के पास लालकुआं, हल्द्वानी से लेकर कालाढूंगी तक की सड़कें हैं। 97.89 किमी लंबी सड़कों पर पैचवर्क होना था। जबकि 50 किमी के दायरे में नवीनीकरण के काम होने थे। इसके लिए विभाग को 7.78 करोड़ रुपये मिले थे। बारिश के दौरान सड़कों की स्थिति खराब होने पर अतिरिक्त काम भी इसमें जोड़ा जाएगा। फिलहाल 23.6 किमी पैचवर्क और 32.91 किमी नवीनीकरण के काम हो चुके हैं। लेकिन अभी भी कई मार्गों की मरम्मत बाकी है। 15 जून के बाद मानसून सीजन शुरू हो जाएगा। उस स्थिति में सड़कों को सुधारा जाना संभव नहीं होगा। ईई लोनिवि अशोक कुमार ने बताया कि अगले साल मार्च तक इन तय कामों को किया जाना है। बारिश से बचते हुए मरम्मत के कार्य किए जाएंगे। तय समय से पहले सालाना लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

चोरगलिया में अधिकारियों ने सुनी लोगों की समस्याएं

चोरगलिया में गुरुवार को प्रशासन ने अलग-अलग विभागों के अफसरों संग लोगों की समस्याएं सुनी। इस दौरान 46 मामले सामने आए थे। जिनमें से 40 का मौके पर निस्तारण किया गया। एसडीएम मनीष कुमार सिंह ने बताया कि छह मामले संबंधित महकमों को ट्रांसफर किए गए हैं। जल्द इनका निस्तारण हो सके। इसलिए मानीटरिंग भी की जाएगी। पिछले दिनों काठगोदाम स्थित सर्किट हाउस में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने अफसरों को निर्देश दिए थे कि दूरस्थ क्षेत्र के लोगों की समस्याओं के समाधान पर खासा फोकस किया जाए। इसके लिए ब्लाक से लेकर न्याय पंचायत क्षेत्र तक शिविर लगाने होंगे। जिसके बाद गुरुवार को एसडीएम मनीष कुमार सिंह की अध्यक्षता में चोरगलिया स्थित सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में अफसरों ने ग्रामीणों की समस्याओं को जाना। एसडीएम के मुताबिक पेंशन संबंधी प्रकरण, बिजली और जमीन से जुड़े मामले ज्यादा सामने आए। इस दौरान तहसीलदार संजय कुमार, बीडीओ डा. निर्मला जोशी, पूर्ति निरीक्षक रवि सनवाल के अलावा समाज कल्याण, सिंचाई, लोनिवि, कृषि व राजस्व से जुडे अधिकारी भी मौजूद रहे।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.