मुख्यमंत्री एवं पर्यटन मंत्री ने की पर्यटन विभाग के टेलीविजन विज्ञापन फिल्म की लॉन्चिंग

मुख्यमंत्री एवं पर्यटन मंत्री ने की पर्यटन विभाग के टेलीविजन विज्ञापन फिल्म की लॉन्चिंग

देहरादून। बीते दो साल में कोरोना के चलते चारधाम यात्रा का संचालन पूरे स्वरूप में नहीं हो सका। लेकिन इस बार रिकॉर्ड तोड़ तीर्थयात्री चारधाम यात्रा में आने की उम्मीद है। इससे प्रदेश भर में पर्यटकों की संख्या में भारी वृद्धि होगी। उक्त बात मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) की ओर से आयोजित पर्यटन व आतिथ्य सम्मेलन-2022 के शुभारंभ अवसर पर कही।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने शनिवार को सेवलाकला, जीएमएस रोड स्थित एक होटल में संयुक्त रूप से पर्यटन विभाग के टेलीविजन विज्ञापन फिल्म “अपनाते हैं दिल खोल के” की लॉन्चिंग की। साहसिक खेल, होमस्टे और वेलनेस पर्यटन आदि विषयों पर आधारित इस टेलीविजन फिल्म की लॉं‌न्चिंग के मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड को अपार प्राकृतिक संपदा से नवाजा गया है और यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के चलते निश्चित रूप से राज्य में पर्यटन गतिविधियां खासी प्रभावित हुई हैं। लेकिन कोरोना से सामान्य होती स्थिति के साथ राज्य सरकार ने पर्यटन गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए सभी उपाय किए हैं। बीते दो साल में कोरोना के चलते चारधाम यात्रा का संचालन पूरे स्वरूप में नहीं हो सका। लेकिन इस बार रिकॉर्ड तोड़ तीर्थयात्री चारधाम यात्रा के लिए आने की उम्मीद है। इसे ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर साल प्रदेश में करीब साढ़े तीन करोड़ पर्यटक आते हैं। हमारा लक्ष्य इस आंकड़े को पांच साल में दोगुना करने का है। पर्यटन विभाग की ओर से तैयार की गई फिल्मों के संबंध में बोलते हुए सीएम धामी ने कहा कि इन फिल्मों का उद्देश्य राज्य में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देना है। उत्तराखण्ड में पर्यटन क्षेत्र में उपलब्ध अपार संभावनाओं को विस्तार देने के लिए समय-समय पर इस प्रकार के आयोजन किए जाएंगे। इस तरह के कार्यक्रम में ‌होने वाले मंथन से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सकारात्मक रास्ते निकलते हैँ। पर्यटन उद्योग उत्तराखंड की आर्थिकी की रीढ़ है। प्रदेश की बड़ी संख्या पर्यटन पर निर्भर है। इससे साल भर पर्यटन क्षेत्र से जुड़े लोगों की आजीविका चलती है।

सम्मेलन के विशिष्ट अतिथि प्रदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि कोरोना महामारी की चुनौतियों से पार पाकर राज्य में पर्यटन तेजी से पटरी पर आ रहा है। राज्य के पर्यटन स्थलों में एक बार फिर बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंच रहे हैं जो राज्य में कोविड के बाद के परिदृश्य में पर्यटन के पुनरुद्धार को दर्शाता है। श्री महाराज ने कहा कि धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से विष्णु सर्किट, शैव सर्किट, विवेकानंद सर्किट, नरसिंह सर्किट, नवग्रह सर्किट, गोलजू सर्किट, महासू देवता सर्किट, गुरुद्वारा सर्किट, हनुमान सर्किट का तेजी से प्रचार-प्रसार करने के साथ ही अन्य सर्किटों का विकास करना प्रस्तावित है।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.