त्याडौ घाटी में नदी से अवैध पत्थरों के ढुलान पर स्थानियों में गहराया विवाद

त्याडौ घाटी में नदी से अवैध पत्थरों के ढुलान पर स्थानियों में गहराया विवाद

यमकेश्वर: एक ओर यमकेश्वर क्षेत्र में प्रशासन के नियम विकास के लिए रोड़े बनते नजर आते हैं, वही दूसरी ओर उसी क्षेत्र में रिर्जाट वाले अपने मन माफिक निर्माण से लेकर खनन तक बेहिचक कर रहे हैं। यमकेश्वर की तालघाटी औ त्योड़ो घाटी राजाजी नेशनल पार्क से लगी हुई हैं। यहॉ पर बाहर से आये खराददारों ने जमीने क्रय कर वहॉ पर रिजॉर्ट निर्माण कर लिये हैं, लेकिन वहीं इनके द्वारा नदियों में खनन करने के कई बार मुददे उठते रहे हैं। ऐसे ही प्रकरण आज त्योड़ो घाटी मे सामने आ रहा है। यमकेश्वर क्षेत्र के त्याडो घाटी में ढौसन गॉव के युवक महेन्द्र पयाल ने बताया कि यहॉ पर रिजॉट मालिकों के द्वारा नदी में अतिक्रमण किया जा रहा है और नदियों से पत्थर भर भर कर ले जाया जा रहा है, जिससे नदियों में रेत ही रेत रह गयी है, बरसात में नदी में पत्थर नही होने से भू कटाव हो रहा है। त्याड़ो गाड़ में जहॉ पर गेंद मेले का मैदान है वहॉ पर पानी अंदर घुस रहा है और इस वजह सें मैदान को नुकसान हो रहा है। आज भी उन्होंने अपने सोशल मीडिया वॉल पर लिखा है कि..

दोपहर को मेने अपने क्षेत्र से द नेचर रिजोर्ट में पत्थर लेजाते ट्रेक्टर को रोका तो रिजोर्ट में काम करने वाले बुकंडी ग्राम सभा के स्थानीय निवासी द्वारा मुझे धमकाया गया उसके द्वारा मुझे अपशब्दों का भी प्रयोग किया गया और उल्टा मुझे ही कहता तूने मेरे मजदूरों को धमकाया ये तो उल्टा चोर कोतवाल को डांटने वाला हिसाब हो गया सारे नदी से पत्थर साफ कर दिये कई महीने से बे धड़ल्ले से अवेध खनन करवा रहा है, और आज मेने अपने क्षेत्र से पत्थर उठाने से रोका तो मुझे धमकाया जा रहा है क्या यमकेश्वर में इस तरह के माफिया भी हो गये जो खुले आम धमका रहे हैं क्या अपने क्षेत्र से विरोध करने पर इस तरह से धमकाया जायेगा बाहर वालों के जमीन खरिदने और रिजाॅर्ट बनाने से मुझे कोई आपती नहीं है पर क्या उनका काम करने वाले स्थानीय निवासी गुडे बनकर अपने ही क्षेत्र के स्थानीय निवासी को खनन का विरोध करने पर इस तरह से धमकी देंगे ये किस तरह से धमका रहा है l

कि इसके आगे कोई इसका विरोध नहीं करे ये अपने निजी स्वार्थ के लिए हमारे क्षेत्र से इस तरह खनन नहीं कर सकते हम इसका बार बार विरोध करेंगे इस तरह से धमकी और गाली गलोज हम बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए मेने अपने तरह से पूरी कोशिश करता रहा कि कोई असंवेधानिक घटना न हो पर ये मुझे बाप की माँ कि गाली देता रहा और मेरे को मारने के लिए पत्थर भी उठाया मेरा सर फूटता पर इसी के लेवर द्वारा इसे रोका गया किसी बहारी लोगों के फायदे के लिए खनन के लिए मुझे धमकाया गया ये तो हमारे ही घर में घुसकर धमकाने वाली बात है इस तरह के गुंडे भी यहां हो गये है ये आज मेरे विरोध करने पर इस तरह से धमका रहे हैं कल इनका कोई और विरोध करने पर ये इस तरह से ही धमकाते रहेंगे और दबाने कि कोशिश करेंगे आज कि घटना से तो यही लगता है कि ये पतानी कोन सी अनजान ताकत के दम पर हमें कुचलने का प्रयास कर रहा है और इस घटना खनन का पूरा ब्योरा में पटवारी श्री महीपाल सिंह पुंडीर जी को फोन पर भी दे चूका हूं l

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.