यमकेश्वर में अवैध खनन माफिया बने निरकुंश, विरोध करने पर प्रधान पति व अन्य पर जान लेवा हमला

यमकेश्वर में अवैध खनन माफिया बने निरकुंश, विरोध करने पर प्रधान पति व अन्य पर जान लेवा हमला

यमकेश्वर:- जोगियाणा में खनन माफियाओं का आतंक इतना बढ़ गया है खुले आम स्थानीय लोगो के साथ मार पीट व जान लेने पर उतारू हैं कल रात्रि 11 बजे अवैध खनन होने पर जोगियाणा  में प्रधान पति व स्थानीय ग्रामीण ने रात्रि में जब 10 डंपरों से अवैध खनन कर रहे लोगों को रोकने का प्रयास किया तो उनको बुरी तरह मारा, हाथ पैर बांधकर उन्हें गाड़ी में डालकर आईडीपीएल ऋषिकेश में उतार दिया साथ ही खुले आम देख लेने की धमकी दी। पहले भी इन्ही खनन माफियाओं ने स्थानीय लोगो पर डंपर भी चढ़ा दिया था मगर प्रशासन के लोगो ने खनन माफियाओं के साथ मिल कर मामले को दबा दिया था।

जोगियाणा के प्रधान सुमित्रा देवी के पति बीरबल सिंह बिष्ट ने लक्ष्मण झूला थाने में दी गयी तहरीर के अनुसार दीनाक 26 जून को मध्य रात्रि मुझे सूचना मिली की हेंवल नदी जो कि हमारे ग्राम सभा क्षेत्र में उस पर रात्रि दो जेसीबी अवैध खनन हेतु आ रखी हैं। सूचना मिलने पर मेरे द्वारा अन्य ग्रामीण जिसमें सुर्जन सिंह बिष्ट, सुखपाल सिंह, विजेन्द्र सिंह को साथ में लेकर नदी में गये। वहॉ जाकर देखा तो दो जेसीबी अवैध खनन कर रही थी और मौके पर 10-12 डम्पर उपस्थित थे। हमारे द्वारा अवैध खनन का विरोध करने पर दोनो जेसीबी ड्राईवर द्वारा हमारे साथ गाली गलौज करने लग गये। जब मेरे द्वारा यह कहा गया कि अवैध खनन कैसे किया जा रहा है तो उनमें से एक व्यक्ति जो कि अपने को बिजनी में उपस्थित क्रशर प्लॉट के मालिक का भतीजा बता रहा था और औकात में रहने एवं अन्य प्रकार की असभ्य गाली गलौज करने लगा, साथ ही जान से मारने की धमकी दी। उसके बाद वे लोग हम चारों लोगों के साथ मारपीट करने लग गये।

क्रशर प्लॉट के मालिक का भतीजा बताने वाले व्यक्ति ने पिस्टल निकालकर सुर्जन सिंह के सिर पर वार किया, जिसका विरोध करने पर उसने मेरे चेहरे पर पिस्टल से वार कर दिया, साथ ही विजेन्द्र और सुखपाल पर भी जान लेवा हमला किया और गढ्ढे में घकेल दिया। उसके कुछ देर बाद एक सफेद रंग की सफारी में कुछ 5-6 अज्ञात युवक आये। उन सभी के हाथों में सरिये, डंण्डे पिस्टल थी और उन्होंने भी हमारे साथ मारपीट की। उसके बाद हमें जबरदस्ती बंधक बनाकर गाड़ी में ऋषिकेश ले गये और गाड़ी में भी मारपीट करते रहे और जान से मारने की धमकी देने लगे। उसके बाद ऋषिकेश हरिद्वार रोड़ पर ग्लास फैक्ट्री के पास उतार कर आगे चले गये।जोगियाणा के प्रधान सुमित्रा देवी के पति बीरबल सिंह बिष्ट, सुरजन सिंह बिष्ट को गंभीर चोटें आयी, जिनको सरकारी अस्पताल में भर्ती किया गया है, उनका इलाज चल रहा है। स्थानीय लोगों ने इस घटना की तहरीर स्थानीय पटवारी और पुलिस चौकी को दी, अभी तक रिर्पोट दर्ज नहीं होने की खबर है। बताया जा रहा है कि यमकेश्वर क्षेत्र के प्रधान संगठन, और ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत सदस्य सभी पुलिस चौकी में जाकर उक्त प्रकरण पर रिपोर्ट दर्ज करने के लिए पुलिस प्रशासन से वार्ता कर रहे हैं। उक्त घटना को लेकर स्थानीय लोगों में भारी रोष व्याप्त है, स्थानीय लोगों का कहना है कि यदि खनन माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही न होने पर जन आंदोलन किया जायेगा।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.