उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 18 किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) का गठन कर उन्हें कंपनी के रूप में प्रवर्तित किया जा रहा है: डा० कमल बहुगुणा

उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 18 किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) का गठन कर उन्हें कंपनी के रूप में प्रवर्तित किया जा रहा है: डा० कमल बहुगुणा

हिमाचल प्रदेश: कृषि एवम किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के संस्थान स्माल फार्मर्स एग्री बिजनेस कंसोर्टियम द्वारा प्रायोजित तथा हिमालयन इंस्टीट्यूट फॉर इन्वायरन्मेंट, इकोलोजी एण्ड डेवलपमेंट (हाईफीड), रानीचौरी, टिहरी गढ़वाल द्वारा क्रियान्वित 10000 किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) का गठन एवं संवर्धन की योजना के अन्तर्गत डॉ0 वाई0एस0 परमार औध्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, सोलन, हिमाचल प्रदेश में आयोजित किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) के निदेशक मंडल के 3 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण के अवसर पर हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के चेयरमैन तथा कौंसिल ऑफ़ स्टेट एग्रीकल्चर मार्केटिंग बोर्ड के नेशनल चेयरमैन बलदेव सिंह भंडारी ने कहा कि किसान उत्पादक संगठनों को मजबूत बनाने हेतु संगठित प्रयासों की आवश्यकता जिससे कि उन्हें उचित विपणन व्यवस्था मिल सके। उन्होंने कहा कि उनके बोर्ड द्वारा राज्य में स्थापित की जा रही मंडियों में किसान उत्पादक संगठनों को विपणन हेतु एक एक दुकानें आबंटित की जायेंगी।

हाईफीड के निदेशक डा० कमल बहुगुणा द्वारा कहा गया कि यदि किसानों के संगठन मजबूत होंगे तभी वह अपने उत्पादों का उचित मूल्य प्राप्त कर सकेंगे। अतः किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) को प्रशिक्षित कर उनकी क्षमता बढ़ाये जाने कि आवश्यकता है। डा० कमल बहुगुणा द्वारा बताया गया कि हाईफीड संस्थान द्वारा इस वर्ष उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में 18 किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) का गठन कर उन्हें कंपनी के रूप में प्रवर्तित किया जा रहा है।

इस अवसर पर डॉ0 वाई0एस0 परमार औध्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, सोलन, हिमाचल प्रदेश के डायरेक्टर एक्सटेंशन डॉ0 देवेंदर गुप्ता ने कहा कि उनका विश्वविद्यालय इस परियोजना में हाईफीड तथा किसान उत्पादक संगठनों को प्रशिक्षण तथा तकनीकी सहायता आदि से सम्बंधित समस्त सहयोग प्रदान करने को तैयार है।

कार्यक्रम के प्रशिक्षक अविनास दास द्वारा कहा गया कि हाईफीड तथा किसान उत्पादक संगठनों को उत्पादों के विपणन पर अधिक मेहनत करने की आवश्यकता है तभी किसान उत्पादक संगठनों की आय में वृद्धि की जा सकेगी तथा उन्हें मजबूत विपणन आधार मिलेगा।

उक्त प्रशिक्षण में हाईफीड द्वारा कृषि एवम किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार की 10000 किसान उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) का गठन एवं संवर्धन की योजना के हिमाचल प्रदेश के शिमला तथा बिलासपुर जनपदों में गठित तथा प्रवर्तित वॉयेज फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 टोटू, के0के0के0 फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 नारकंडा, हिल एग्री फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 सदर तथा माँ नैनादेवी फार्मर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 नैनादेवी के निदेशक मंडल द्वारा तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण प्राप्त किया जा रहा है।

प्रशिक्षण से पूर्व हिमाचल प्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के चेयरमैन तथा कौंसिल ऑफ़ स्टेट एग्रीकल्चर मार्केटिंग बोर्ड के नेशनल चेयरमैन बलदेव सिंह भंडारी, हाईफीड के निदेशक डा० कमल बहुगुणा, डॉ0 वाई0एस0 परमार औध्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, सोलन, हिमाचल प्रदेश के डायरेक्टर एक्सटेंशन डॉ0 देवेंदर गुप्ता, ज्वाइंट डायरेक्टर कम्युनिकेशन डॉ0 अनिल सूद, ज्वाइंट डायरेक्टर ट्रेनिंग डॉ0 चमन लाल ठाकुर तथा प्रशिक्षक अविनास दास द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। इस अवसर पर हाईफीड संस्थान के मनीष वर्मा, बृजमोहन कंडारी आदि द्वारा भी प्रशिक्षण कार्यक्रम में सहयोग प्रदान किया गया। इससे पूर्व हाईफीड के स्टेट कोऑर्डिनेटर हिमाचल प्रदेश पी0डी0 भाटिया समस्त अतिथियों का स्वागत कर कार्यक्रम प्रारंभ किया गया l

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.