नोएडा का गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी गिरफ्तार, अपराधों से रहा है पुराना नाता, जानिए कहां फरार था श्रीकांत

नोएडा का गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी गिरफ्तार, अपराधों से रहा है पुराना नाता, जानिए कहां फरार था श्रीकांत

नोएडा: नोएडा के गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी को नोएडा पुलिस ने मेरठ से गिरफ्तार कर लिया गया है। वह बीते 4 दिन से फरार चल रहा था। श्रीकांत त्यागी के अलावा 3 और लोग भी पकड़े गए हैं। इनसे पूछताछ जारी है। गौरतलब है कि नोएडा पुलिस ने श्रीकांत के ऊपर 25 हजार रुपए का इनाम भी रखा था। बता दें कि नोएडा की ग्रैंड ओमैक्स सोसायटी में महिला से गाली-गलौच करने के मामले में पुलिस श्रीकांत की तलाश कर रही थी। पुलिस ने मंगलवार को श्रीकांत की पत्नी को दोबारा हिरासत में लिया था। इससे पहले शुक्रवार को भी पुलिस ने श्रीकांत की पत्नी से 24 घंटे से ज्यादा की पूछताछ की थी। श्रीकांत त्यागी खुद को व्हाइट कॉलर वाले नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करता था। पॉश इलाके में किराए के मकान में पॉलिटिकल मीटिंग्स किया करता था। बड़े-बड़े नेताओं को बुलाता था। दस बीस नहीं, पचासों गाड़ियों के काफिले के साथ लोग उससे मिलने आते थे। कोई रास्ता न भटके, सही लोकेशन पर पहुंचे, इसके लिए श्रीकांत त्यागी ने दबंग स्टाइल में बाकायदा होर्डिंग्स लगवा रखी थीं।

कहां फरार था श्रीकांत?

श्रीकांत की गिरफ्तारी मेरठ की श्रद्धापुरी कालोनी से हुई है। वह अपने एक करीबी के यहां छिपा हुआ था। वह देहरादून से हरिद्वार और फिर वहां से ऋषिकेश होता हुआ देर रात सहारनपुर गया था। श्रीकांत आज तड़के ही मेरठ आया था।

क्या है पूरा मामला

नोएडा के सेक्टर 93-ठ की ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में इना अग्रवाल नाम की एक महिला के साथ श्रीकांत त्यागी नाम के लोकल लीडर की बदसलूकी का वीडियो पूरे देश में वायरल हुआ था। जो भी इस वीडियो को देख रहा था, वो यही सवाल पूछ रहा था कि आखिर एक महिला से कोई इस तरह की बदसलूकी कैसे कर सकता है, वो भी ऐसी पॉश सोसायटी में। श्रीकांत त्यागी इस वीडियो में महिला पर भद्दी से भद्दी गालियों की बौछार करता दिख रहा था। वीडियो में न सिर्फ वह महिला से बदसलूकी कर रहा था बल्कि उसके साथ धक्का-मुक्की भी करता दिख रहा था।

श्रीकांत के अवैध निर्माण पर चला था बुलडोजर

श्रीकांत त्यागी के ओमैक्स सोसाइटी में अवैध निर्माण पर बुलडोजर भी चला था। सरकार का इशारा होते ही पूरा सरकारी अमला त्यागी के कागज चेक करने में लग गया था। उसकी 15 दुकानों पर जीएसटी चोरी का केस बना था। जहां-जहां जो भी निर्माण किया था, अथॉरिटीज से उसकी रिपोर्ट मांगी गई है। उसकी सिक्योरिटी में लगे गनर किसके आदेश से मिले, इसका पता लगाया जा रहा है। राजनीति से लेकर अफसरशाही तक उसके गॉडफादर कहां-कहां बैठे थे, इसे खंगाला जा रहा है। इस मामले में 6 पुलिसवाले अब तक सस्पेंड हो चुके हैं।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *