डोईवाला क्षेत्र में हुई डकैती की घटना का पुलिस ने किया खुलासा, घटना में संलिप्त 4 अभियुक्त गिरफ्तार

डोईवाला क्षेत्र में हुई डकैती की घटना का पुलिस ने किया खुलासा, घटना में संलिप्त 4 अभियुक्त गिरफ्तार

देहरादून:- दि0 15/10/22 को वादी श्री शीशपाल अग्रवाल पुत्र स्व0 श्री पूरन चन्द अग्रवाल निवासी घराट रोड गली थाना डोईवाला देहरादून सूचना दी गई कि दोपहर समय करीब 12.00 बजे 06 अज्ञात अभि0गणो द्वारा वादी के घर में घुसकर, चाकू व तमन्चा दिखाकर वादी की पत्नी व वादी के घर पर काम करने वाली 02 नौकरानियो को कमरे मे बन्धक बनाकर जान से मारने की धमकी देते हुए घर पर रखे जेवरात व नकदी लूट ली गयी है। उक्त सूचना पर थाना डोईवाला पर मु0अ0सं0 371/2022 धारा 395 भादवि बनाम अज्ञात 06 अभियुक्तगण पंजीकृत किया गया । पंजीकृत अभियोग की विवेचना प्रभारी निरीक्षक डोईवाला राजेश साह द्वारा ग्रहण की गयी।

घटना की जानकारी तुरन्त उच्चाधिकारीगणो को दी गयी। दिन दहाडे आबादी क्षेत्र के पास हुई उक्त घटना की सूचना मिलने पर डीआईजी गढवाल रेंज महोदय व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदय तत्काल घटना स्थल पर पहुँचे तथा घटना की विस्तृत जानकारी लेते हुए घटनास्थल का निरीक्षण किया। मौके पर ही फारेन्सिक टीम, डॉग स्कवॉड तथा एसओजी टीम बुलाकर साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी। घटनास्थल के निरीक्षण व पूछताछ में यह बात प्रकाश में आई कि डकैती की इस घटना में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई ऐसा व्यक्ति संलिप्त रहा है, जिसे वादी के घर के सम्बन्ध में पूर्ण जानकारी थी।

उक्त गम्भीर घटना के शीघ्र अनावरण को पुलिसकर्मियों की प्रमुख टीमें व अन्य छोटी टीमें बनाकर आवश्यक दिशा-निर्देश व टास्किंग देकर उन्हें घटना के अनावरण हेतु रवाना किया गया। गठित पुलिस टीमों द्वारा के घर में पूर्व में कार्य करने वाले लोगों के बारे में जानकारी गोपनीय रूप एकत्र की गई तो ज्ञात हुआ कि महबूब ठेकेदार निवासी कुडकावाला डोईवाला, जिसने 02 वर्ष पूर्व वादी के घर पर कारपेंटर का कार्य किया गया है, वह घटना के बाद से लापता है और उसका फोन भी लगातार बंद चला आ रहा है। इस आधार पर महबूब ठेकेदार की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए पुलिस टीम द्वारा महबूब की तलाश प्रारम्भ की गई। परन्तु महबूब किसी रिस्तेदारी या परिचित के घर पर नहीं मिला।

पुलिस टीम के अथक, अनवरत प्रयास एवं कडी मेहनत व सटीक सूचना के आधार पर उक्त घटना में अभियुक्त महबूब पुत्र इमरान अली हाल निवासी कुडकावाला थाना डोईवाला मूल निवासी ग्राम बसेडा मुज्जफरनगर उत्तर प्रदेश का मास्टरमाइन्ड होना पाया गया । यह बात भी प्रकाश में आई कि अभियुक्त महबूब द्वारा वादी के घर पर करीब 02 वर्ष पूर्व अपने साथियों के साथ लकडी और पी0ओ0पी0 का कार्य किया गया था और वह वादी के घर की परिस्थितियों से अच्छी तरह वाकिब था । उसे यह बात भी मालूम थी कि वादी दिन में दुकान में रहता है और 02 बजे दिन में लंच करने घर आता है, इससे पहले उसकी पत्नी घर पर अकेली रहती है ।

दिनांक 18.10.2022 को पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना के आधार पर सरवट मुजफ्फरनगर में अपनी कार स्विफ्ट डिजायर कार स0: यूके-07-डीएफ-3352 से अपने वकील से मिलने जा रहे अभियुक्त महबूब को उसके 02 अन्य साथियों मनव्वर व शमीम के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा स्वंय को उक्त घटना को अंजाम देना स्वीकार किया तथा महबूब ने बताया कि मेरे द्वारा श्री शीशपाल अग्रवाल के घर पर फर्नीचर व पीओपी का कार्य किया था और मै इनकी आर्थिक स्थिति व समाज में धनी होने की शोहरत देख कर मेरे मन में लालच आ गया था। उसी वक्त से मेरे द्वारा इनके यहाँ चोरी/लूट करने की भावना हो गयी थी और मैने इनका भरोसा भी प्राप्त कर लिया था व इनके परिवारजनो व इनके सम्बन्ध में अन्य जानकारी जुटाना शुरू कर दिया था । फिर मैंने, शमीम तथा मनव्वर ने इनके घर के आसपास रैकी कर लूट/डकैती डालने की योजना तैयार की और मैने और मनव्वर ने जनपद मुज्जफरनगर के मूल निवासी होने के चलते मुज्जफरनगर के आदतन अपराधियो से सम्पर्क कर मुज्जफरनगर निवासी 1-रियाज 2- नावेद 3-मेहरबान 4-वसीम 5-तहसीम कुरैशी को उक्त घटना/डकैती करने के लिए के योजना में शामिल करते हुए उनसे मिलकर निर्धारित योजना के अन्तर्गत डकैती की घटना को दिनांक 15-10-22 को अंजाम दिया गया। घटना के दिन 1. वसीम 2. तहसीम 3. नावेद 4. रियाज व 5. मेहरबान बावला वादी के घर में घुसे और मैं, मन्नवर व अन्य बचे हुए साथी लालाजी के घर के आस-पास घर के बाहर आने-जाने वालों की निगरानी करने लगे तथा घर में घुसे लोगो द्वारा लालाजी की पत्नी व इनके घर में काम करने वाली 02 नौकरानियो को हथियार दिखाकर डरा-धमकाकर इन्हीं के घर के एक कमरे में बन्धक बनाकर इनके घर की अलमारियों व अन्य स्थानों में रखी नकदी व जेवरात को लूटकर भाग गये और घटना करने के बाद हम लोग डोईवाला से अलग-अलग होकर मौके से फरार हो गये। उक्त पकडे गये अभि0गणों से घटना मे प्रयुक्त हुयी स्विफ्ट डिजायर कार स0: यूके-07-डीएफ-3352 से अभि0गणों की निशानदेही पर उपरोक्त कार में रखे डकैती में लूटी गयी सम्पति नकदी बरामद की गई।

गिरफ्तार अभियुक्तगणों से पूछताछ में यह बात प्रकाश में आई कि घटना करने के बाद कुछ अभियुक्तगण इको स्पोर्ट कार डीएल-08- सीए-2169, जो अभियुक्त तहसीम कुरैशी की है, से भाग गये और कुछ बाद में अभियुक्त महबूब की स्विफ्ट कार से निकले। पुलिस द्वारा बाद में अभियुक्त तहसीम को दिल्ली- बागपत हाईवे पर स्वरूपनगर चौकी के पास से रात्रि 01.35 बजे गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त द्वारा पूछताछ में बताया गया कि उक्त घटना में उसके साथ तौकीर निवासी खतौली मुजफ्फरनगर उ0प्र0 भी साथ था। गिरफ्तारी में अभियुक्त से 03 लाख 03 हजार रूपये नगद, एक तमन्चा 32 बोर व 2 जिंदा कारतूस व डकैती में शामिल इको स्पोर्टस कार बरामद हुई।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *