Rishikesh River Rafting: रिवर राफ्टिंग के शुरु होते ही बढ़ी पर्यटकों की संख्या, अभी तक 3122 पर्यटक उठा चुके हैं रिवर राफ्टिंग का लुत्फ

Rishikesh River Rafting: रिवर राफ्टिंग के शुरु होते ही बढ़ी पर्यटकों की संख्या, अभी तक 3122 पर्यटक उठा चुके हैं रिवर राफ्टिंग का लुत्फ

ऋषिकेश: गंगा के कौडियाला-मुनिकीरेती ईको टूरिज्म जोन में रिवर राफ्टिंग की गतिविधि आरंभ हो चुकी है। पहले ही सप्ताह में बड़ी संख्या में पर्यटक गंगा की लहरों पर रोमांच का लुत्फ उठाने के लिए उमड़े हैं। अभी नवंबर माह तक राफ्टिंग के लिए मौसम अनुकूल रहता है, ऐसे में आने वाले दिनों में राफ्टिंग के लिए पर्यटकों की संख्या में खासी वृद्धि होने का अनुमान है।

रोमांच से भरपूर इस साहसिक गतिविधि में जोखिम भी जुड़ा रहता है, इसलिए राफ्टिंग के दौरान सुरक्षा मानकों और निर्देशों का पालन करना भी जरूरी है। ऋषिकेश का कौडियाला-मुनिकीरेती ईको टूरिज्म जोन राफ्टिंग गतिविधि के लिए विश्व भर में अलग पहचान रखता है। करीब 35 किमी के इस जोन में मालाखुंटी (मरीन ड्राइव) से मुनिकीरेती तक राफ्टिंग की गतिविधि संचालित होती है। जिसके लिए चार स्टार्टिंग प्वाइंटर मरीन ड्राइव, शिवपुरी, क्लब हाउस तथा ब्रह्मपुरी निर्धारित हैं।

मानसून काल में दो माह 10 दिन तक बंद रही राफ्टिंग की गतिविधि के लिए तकनीकी समिति की रिपोर्ट के बाद पर्यटन विभाग ने 10 सितंबर से अनुमति प्रदान की थी। जिसके बाद सबसे पहले ब्रह्मपुरी से मुनिकीरेती के बीच राफ्टिंग को खोला गया। इसके बाद अब क्लब हाउस और शिवपुरी से भी राफ्टिंग गतिविधि के संचालन को अनुमति मिल चुकी है। हालांकि मरीन ड्राइव से अभी राफ्टिंग के लिए कुछ दिन और इंतजार करना होगा।

राफ्टिंग सत्र आरंभ होने के साथ ही विगत तीन दिनों में 3122 पर्यटक गंगा में रिवर राफ्टिंग का लुत्फ उठा चुके हैं। यह संख्या राफ्टिंग के प्रति पर्यटकों के रुझान को स्पष्ट करती है। हालांकि अभी नवंबर अंत तक गंगा में राफ्टिंग के लिए मौसम अनुकूल रहता है। इसके बाद ठंडक बढ़ने पर फरवरी तक राफ्टिंग गतिविधि सुस्त हो जाती है। ऐसे में आने वाले दिनों में पर्यटकों की संख्या में और इजाफा होने की उम्मीद है।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.