केंद्र सरकार ने कोविड संबंधी दिशानिर्देश 28 फरवरी तक बढ़ा दिए हैं।

केंद्र सरकार ने कोविड संबंधी दिशानिर्देश 28 फरवरी तक बढ़ा दिए हैं।

दिल्ली: कोरोना लगातार अपने पैर पसार रहा है। इस वक्त सबसे बड़ी चुनौती है की चुनाव के समय कोरोना से बचाव कैसे हो। बढ़ते कोरोना को देखते हुए फ़िलहाल केंद्र सरकार ने कोविड संबंधी दिशानिर्देश 28 फरवरी तक बढ़ा दिए हैं। साथ ही केंद्र शासित प्रदशों और राज्यों से किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बरतने को कहा है। गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा है, कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के कारण देश में कोरोना मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है।

अजय भल्ला ने कहा हालांकि ज्यादातर एक्टिव मामले तेजी से ठीक हो रहे हैं। और अस्पतालों में कम मामले हैं, फिर भी यह चिंता का विषय है कि 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 407 जिले में सकारात्मकता दर 10 प्रतिशत से अधिक देखी जा रही हैं। इसलिए, कोविड विषाणु के मौजूदा रुझानों को देखते हुए सावधानी और सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सभी सावधानियों का पालन करना चाहिए और किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होने देनी चाहिए।

गृह सचिव ने कहा कि राज्य प्रवर्तन एजेंसियों को कोविड संबंधी मानदंडों को सख्ती से लागू करना चाहिए। जैसे कि फेस मास्क पहनना और सभी सार्वजनिक क्षेत्रों, सभाओं में सुरक्षित सामाजिक दूरी बनाए रखना शामिल है। इसके अलावा राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को सही जानकारी और किसी भी गलत सूचना के बारे में लोगों में फैल रही किसी भी भ्रांति को दूर करने के लिए नियमित रूप से मीडिया ब्रीफिंग करना जारी रखना चाहिए। टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण और कोविड के उचित व्यवहार का पालन करना जारी रखा जाना चाहिए।

गृह सचिव ने मुख्य सचिवों को जिलों और अन्य सभी संबंधित स्थानीय अधिकारियों को आवश्यक दिशानिर्देश जारी करने के लिए कहा, ताकि मंत्रालय की सलाह के सख्त अनुपालन के साथ-साथ कोविड-19 (Covid-19) के त्वरित और प्रभावी प्रबंधन के लिए आवश्यक उपाय करने में मदद मिल सके।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.