नोटों की गड्डियां भी डिगा नहीं पाई खाकी का ईमान

नोटों की गड्डियां भी डिगा नहीं पाई खाकी का ईमान

हरिद्वार:- किस्सा हालांकि कल का है लेकिन खुद में एक मिसाल है। उत्तराखंड पुलिस की इमानदारी में एक और तमगा जुड़ा है जिस के साक्षी बने हैं अपनी खोई हुई हजारों रुपए की रकम गवा चुके एक पीड़ित। कल हरिद्वार जनपद की चौकी लालढांग पर तैनात कांस्टेबल शेर सिंह रावत को ड्यूटी पर जाते समय रोड पर एक काले रंग का हैंडबैग पड़ा मिला। खोल कर देखा तो ₹53500/- की नगदी और अन्य कागजात सहित मोबाइल नंबर मिला।

जवान के हाथ एक बार फिर लौटरी लगी थी। मौका था पुण्य कमाने का! सो तत्काल मिले नम्बर से बात की। पता लगा कि मोहल्ला मुनीर गंज थाना नजीबाबाद के रहने वाले लियाकत मिंया का बैग चिड़ियापुर लकड़ी डिपो में नीलामी की लकड़ी खरीदने के लिए जाते समय रास्ते में कहीं गिर गया था, जिसमें नगदी और कागजात रखे थे।

मौके की नजाकत देख कांस्टेबल शेर सिंह ने मिंया को लाडपुर पिकेट में बुलाकर ₹ 53500/- व अन्य कागजात सुपुर्द किए।
ऐसे पुलिसकर्मी मिसाल बनते हैं समाज और विभाग के लिए और अफसरों को भी चाहिए कि वे ऐसे पुलिसकर्मियों पर “खास नजर” रखें और उन्हें उत्साहित करते हुए पुरस्कृत भी करें।

News Glint

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.