मध्यप्रदेश की हथकरघा को देश-दुनिया तक पहुंचाने के मकसद से कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा 29 अप्रैल को मुंबई में विशेष फैशन शो

मध्यप्रदेश की हथकरघा को देश-दुनिया तक पहुंचाने के मकसद से कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा 29 अप्रैल को मुंबई में विशेष फैशन शो

इंदौर: मध्यप्रदेश की हथकरघा को देश-दुनिया तक पहुंचाने के मकसद से कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग द्वारा 29 अप्रैल को मुंबई में विशेष फैशन शो का आयेाजन किया जा रहा है। इस आयोजन में चंदेरी, माहेश्वरी, बाघ, बाटिक और नांदना प्रिंट के परिधानों की प्रस्तुति फिल्म जगत के ख्यात कलाकार व मॉडल देंगे। यह जानकारी देते हुए डिपार्टमेंट की प्रमुख सचिव स्मित भारद्वाज ने बताया कि हथकरघा उद्योग की हालत खराब है। कारीगर संकट में हैं। यही समय है उनकी मदद के लिए हाथ बढ़ाने का। इसीलिए उनकी कला को अंतर राष्ट्रीय स्तर पर भी प्रेजेंट करना पड़े तो हम करेंगे ताकि उन्हें उनकी कला का उचित दाम मिल सके।

रविवार को पत्रकारों से रूबरू हुई पीएस भरद्वाज ने बताया कि पीएम लोकल फॉर वोकल का नारा दे रहे हैं। इसीलिए इसमें हथकरघा को प्रोत्साहन देना जरूरी है। पॉवर लूम में बनाने वाले कपड़े के मुकाबले हैंडलूम के कपड़े की कीमत भले थोड़ी ज्यादा रहती हो लेकिन मेरी अपील है लोगों से सालभर में एक मीटर खादी या हैंडलूम का कपड़ा जरूर खरीदें। यह हमारी पम्परागत पहचान है जो खत्म होती जा रही है। इसे बचाना हमारी जिम्मेदारी है। डिपार्टमेंटल की एमडी अनुभा श्रीवास्तव ने बताया कि मृगनयनी इम्पोरियम हैंडलूम क्लॉथ सिलेक्ट कर चुकी है जो ख्यात हस्तियों के लिए कपड़े डिजाइन करती है। डिजाइनर मुमताज खान ने बताया कि बाघ प्रिंट से कैसे शर्ट, कुर्ते, जैकेट और शेरवानी बनाए। जो आज डिमांड में है। नांदना एक्सपट्र साधना व्यास ने कहा कि नांदना पहले 100 परिवार करते थे, अब दो ही कर रहे हैं। अभी वक्त है उनके बारे में सोचने का। वरना कला खत्म हो जाएगी। लता मंगेश्कर स्मृति से जुड़े आयेाजन में कपड़े मप्र के भरद्वाज ने बताया कि लता मंगेश्कर की स्मृति में एक स्पेशल संगीत कार्यकम बन रहा है जिसमें सभी कलाकार जो कपड़े पहनेंगे व्र मध्यप्रदेश के होंगे। यहां की प्रिंट होंगे। यह कार्यक्रम टीवी चैनल पर कई एपिसोड में प्रसारित होगा।

Admin

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.